Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

पाकिस्तान में 3 नाबालिग लड़कों से दुष्कर्म कर दफनाया, गुस्साए लोगों ने किया जाम और पुलिस स्टेशन पर पथराव

पिछले 75 दिनों से कसूर से लापता हुए चार बच्चों में से कम से कम तीन के शव मिले, पुलिस ने पुष्टि करते हुए कहा कि तीनों को दफनाने से पहले उनके साथ क्रूरता के साथ दुष्कर्म किया गया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान में 3 नाबालिग लड़कों से दुष्कर्म कर दफनाया, गुस्साए लोगों ने किया जाम और पुलिस स्टेशन पर पथराव

पाकिस्तान के कसूर में 3 नाबालिग लड़कों से दुष्कर्म

लाहौर:

पाकिस्तान (Pakistan) के कसूर में तीन नाबालिग लड़कों के शव मिलने के एक दिन बाद विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया. पुलिस ने कहा कि शहर के चुनियान तहसील में दुष्कर्म (Sexual Assualt) के बाद तीनों की हत्या कर दी गई. समाचार पत्र डॉन के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों ने चुनियान में सड़कें जाम कर दी और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करते हुए टायर जलाए. बाल अपहरण की घटनाओं और कोई गिरफ्तारी नहीं होने से गुस्साई भीड़ ने एक पुलिस स्टेशन को घेर लिया और उस पर पथराव किया.

स्थानीय व्यापारी संघ और चुनियान बार एसोसिएशन ने भी इस घटना का विरोध किया और हत्यारों को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की.

जियो न्यूज के अनुसार, पिछले 75 दिनों से कसूर से लापता हुए चार बच्चों में से कम से कम तीन के शव मिले, पुलिस ने पुष्टि करते हुए कहा कि तीनों को दफनाने से पहले उनके साथ क्रूरता के साथ दुष्कर्म किया गया था.

स्थानीय लोगों का कहना है कि एक पांचवा बच्चा भी गायब है और उन्हें शक है कि दुष्कर्म के बाद बच्चों की हत्या करने के पीछे किसी रैकेट का हाथ है.


कसूर के जिला पुलिस अधिकारी अब्दुल गफ्फार कैसरानी ने कहा कि नौ संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया है और उनका डीएनए परीक्षण किया जा रहा है. परिणाम 24 घंटे के भीतर आने की उम्मीद है.

दुनिया से खबरें और भी हैं...

गुस्सैल पति ने पत्नी की काट दी नाक और उड़ाए सिर के बाल, कसूर सिर्फ इतना कि बेटी से...

पाकिस्तान में 15 साल के लड़के ने दोस्त की पीट-पीटकर की हत्या, वीडियो गेम के टोकन...

टिप्पणियां

VIDEO: रणनीति इंट्रो: बलात्कार पर ध्रुवीकरण क्यों?



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... 15 दस्तावेज देकर भी खुद को भारतीय साबित नहीं कर पाई असम की जाबेदा, कानूनी लड़ाई में खो बैठी सब कुछ

Advertisement