NDTV Khabar

श्रीलंका ने कैंडी जिले में सांप्रदायिक हिंसा के बाद 10 दिनों के लिए आपातकाल की घोषणा की

कैबिनेट मंत्री एस बी दिसानायके ने कहा है कि श्रीलंका ने कैंडी जिले में सांप्रदायिक हिंसा के बाद आपातकाल की घोषणा कर दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
श्रीलंका ने कैंडी जिले में सांप्रदायिक हिंसा के बाद 10 दिनों के लिए आपातकाल की घोषणा की

श्रीलंका ने कैंडी जिले में सांप्रदायिक हिंसा के बाद आपातकाल की घोषणा की (प्रतीकात्मक फोटो)

खास बातें

  1. 10 दिनों की आपातकाल की हुई घोषणा
  2. सोमवार को हुई थी दो समुदायो में बहस
  3. सेना की टुकड़ियां तैनात कर दी गईं हैं
कोलंबो: श्रीलंका में सांप्रदायिक दंगे को फैलने से रोकने के लिए 10 दिन के लिए आपातकाल की घोषणा कर दी गई है. सरकारी प्रवक्ता ने इस बात की जानकारी दी. बौद्ध और मुस्लिम संप्रदाय के लोगों के बीच कैंडी में हुई झड़प के एक दिन के बाद यह फैसला लिया गया. वहीं, न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, कैबिनेट मंत्री एस बी दिसानायके ने कहा है कि श्रीलंका ने कैंडी जिले में सांप्रदायिक हिंसा के बाद आपातकाल की घोषणा कर दी है.

पिछले साल भर से दोनों समुदायों के बीच तनाव बढ़ रहा था. कुछ बौद्ध समूहों का आरोप था कि मुस्लिम लोगों को इस्लाम धर्म में कंवर्ट करने के लिए दबाव डाल रहे हैं और बौद्ध पुरातत्व स्थलों पर तोड़फोड़ कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें : भारत के सैन्य अभ्यास का निमंत्रण ठुकराने की मालदीव ने यह बताई वजह

स्पोक्सपर्सन दयाश्री जयासेकेरा ने रॉयटर्स से कहा- एक विशेष कैबिनेट मीटिंग में यह फैसला लिया गया कि  देश के अन्य हिस्सों में सांप्रदायिक दंगे न फैलें, इसलिए अगले 10 दिनों तक आपातकाल की घोषणा कर दी गई है. उन्होंने सोशल मीडिया की पोस्ट्स का हवाला देते हुए कहा- जो लोग  फेसबुक के जरिए हिंसा भड़का रहे हैं उनके खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएंगे. भीड़ द्वारा एक मुस्लिम की दुकान में आग लगा देने के बाद सोमवार को सरकार ने कर्फ्यू लगा दिया था और सरकार ने सेना की टुकड़ियां और पुलिस वहां भेज दिए थे.

VIDEO : क्या भारत-मालदीव के रिश्ते सहज और बेहतर होंगे?


टिप्पणियां
डेली मिरर ने  एसबी दिसानायके हवाले से कहा, 'आरोप लग रहे हैं कि इन तनावपूर्ण स्थितियों के प्रभाव को कम करने के लिए कानून लागू नहीं किया जा रहा है. अब, पुलिस और सैन्य कर्मियों को सुरक्षा बढ़ाने के लिए संबंधित स्थानों पर तैनात कर दिया गया है.' दिसानायके ने कहा कि राष्ट्रपति 10 दिन बाद फैसला करेंगे कि आपातकाल की स्थिति को आगे बढ़ाना है या नहीं. कैंडी जिले के थेलडेनिया और पालेकेल इलाके में आज फिर से कर्फ्यू लगाया गया और भारी हथियारों से लैस विशेष कार्यबल के पुलिस कमांडो की तैनाती की गई है.

(इनपुट- रॉयटर्स, भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement