श्रीलंका का ईंधन संकट पर बड़ा बयान, इस कंपनी को ठहराया जिम्मेदार

श्रीलंका में जारी ईंधन संकट के बीच इंडियन ऑयल कंपनी की श्रीलंकाई इकाई लंका आईओसी को आलोचना का सामना करना पड़ा.

श्रीलंका का ईंधन संकट पर बड़ा बयान, इस कंपनी को ठहराया जिम्मेदार

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  • श्रीलंका का ईंधन संकट पर बड़ा बयान, इस कंपनी को ठहराया जिमेमदार
  • श्रीलंकाई इकाई लंका आईओसी को आलोचना का सामना करना पड़ा
  • लंका आईओसी के पास 2002 से 20 प्रतिशत हिस्सेदारी है
कोलंबो:

श्रीलंका में जारी ईंधन संकट के बीच इंडियन ऑयल कंपनी की श्रीलंकाई इकाई लंका आईओसी को आलोचना का सामना करना पड़ा. पेट्रोलियम प्राधिकरण ने पिछले माह लंका आईओसी की एक खेप को दूषित बताकर लौटा दिया था. इसके अलावा स्थिति और खराब करने के लिए सरकारी पेट्रोलियम कंपनी को जा रही खेप को भी विलंबित कर दिया गया था.
श्रीलंका के पेट्रोलियम मंत्री अर्जुन रणतुंगा ने संवाददाताओं से कहा, ‘लंका आईओसी के पेट्रोल की खेप को 17 अक्टूबर को खारिज कर दिया गया था. हम उसे स्वीकार नहीं सकते थे. हमने जहाज को वापस जाने कह दिया था.’

यह भी पढ़ें: इस पेट्रोल पंप में मुफ्त में मिल रहा है ब्रेकफास्‍ट, स्‍नैक्‍स और खाना

रणतुंगा ने कहा कि लंका आईओसी ने एक वैकल्पिक खेप की व्यवस्था की थी पर उन्होंने यह अब तक किया नहीं है. उन्होंने कहा कि ईंधन की कमी अभी एक या दो दिन और रहेगी. उन्होंने कहा कि सरकार इस संकट को दूर करने का हर संभव उपाय कर रही है. बुधवार को एक अन्य खेप आने की उम्मीद है.

VIDEO: कच्चा तेल और गिरेगा तो क्या होगा?
उन्होंने कहा, ‘मैं इस असुविधा के लिए लोगों से माफी मांगता हूं. हमने उस खेप को वापस किया था क्योंकि हम अपने मोटरचालकों को दूषित उत्पाद नहीं इस्तेमाल करने दे सकते थे.’ उल्लेखनीय है कि श्रीलंका के बाजार में लंका आईओसी के पास 2002 से 20 प्रतिशत हिस्सेदारी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com