NDTV Khabar

बांग्लादेश में हिंदू आबादी घटी नहीं, बढ़ी है: सुषमा स्वराज 

सुषमा स्वराज ने कहा कि बांग्लादेश में साल 2010 में हिंदुओं की आबादी 8.4 प्रतिशत थी जो 2017 में बढ़कर 10.7 प्रतिशत हो गयी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बांग्लादेश में हिंदू आबादी घटी नहीं, बढ़ी है: सुषमा स्वराज 

बांग्लादेश में हिंदू की आबादी को लेकर सुषमा स्वराज ने दिया बयान

नई दिल्ली: विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदुओं पर हो रहे हमलों को रोकने के लिये वहां की सरकार द्वारा किये जा रहे उपायों पर संतोष व्यक्त किया है. सुषमा स्वराज ने पड़ोसी देश पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदुओं पर हो रहे हमलों के कारण भारत में इनके पलायन से उत्पन्न नागरिकता संबंधी समस्या के बारे में गुरुवार को राज्यसभा में बयान दिया. उन्होंने प्रश्नकाल के दौरान एक पूरक सवाल के जवाब में यह बात कही. उन्होंने कहा कि बांग्लादेश में साल 2010 में हिंदुओं की आबादी 8.4 प्रतिशत थी जो 2017 में बढ़कर 10.7 प्रतिशत हो गयी. पड़ोसी देशों में हिंदू अल्पसंख्यकों पर हमलों से भारत में पलायन की बढ़ती समस्या से जुड़े पूरक प्रश्न के जवाब में स्वराज ने कहा कि इन घटनाओं पर तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिये भारत सरकार संबद्ध देशों की सरकारों के साथ लगातार संपर्क में है.

यह भी पढ़ें: अमेरिका के साथ सितंबर में वार्ता करेगा भारत : रक्षा मंत्री

जहां तक बांग्लादेश में इस समस्या के कारण जनसांख्यकीय बदलाव का सवाल है तो बांग्लादेश सरकार के आधिकारिक आंकड़ों में हिंदू आबादी में इजाफा होना इस आशंका को निराधार साबित करता है. उन्होंने पाकिस्तान में दलित हिंदुओं पर अत्याचार की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर भारत में उनके पलायन और नागरिकता की मांग से उत्पन्न समस्या से जुड़े पूरक प्रश्न के जवाब में कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक इस समस्या का समाधान है. स्वराज ने कहा कि पलायन कर भारत आये ऐसे लोगों को नागरिकता प्रदान कर इस समास्या का स्थायी समाधान किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: कंसास में मारे गए भारतीय के परिवार को सभी सहायता मुहैया कराएंगे : सुषमा

इसके लिये सरकार नागरिकता कानून में संशोधन विधेयक लेकर आयी है. यह लोकसभा से पारित हो गया है, लेकिन राज्यसभा में लंबित है. उन्होंने सदन से मानसून सत्र में इसे पारित कराने का निवेदन किया जिससे इस समस्या का समाधान हो सके.  गौरतलब है कि यह पहला मौका है जब सुषमा स्वराज ने पड़ोसी देशों में रहने वाले हिन्दूओं के लिए आवाज उठाई है.

टिप्पणियां
VIDEO: ट्विटर पर एक करोड़ एकाउंट बंद.


हालांकि इससे पहले अलग-अलग देशों में रहने वाले भारतीय की मदद के लिए आगे आती रही हैं. चाहे बात ईराक में फंसे भारतीय को स्वदेश लाने की बाद हो या फिर अमेरिका में रहने वाले भारतीयों की मदद की. सुषमा स्वराज हर बार ऐसे लोगों की मदद के लिए आगे आती रही हैं.(इनपुट भाषा से) 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement