NDTV Khabar

तालिबान ने मार गिराए आठ लड़ाकू विमान, अमेरिका चिंतित

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तालिबान ने मार गिराए आठ लड़ाकू विमान, अमेरिका चिंतित

खास बातें

  1. अफगानिस्तान में 11 साल से चले आ रहे युद्ध में पहली बार तालिबान ने अमेरिका और नाटो बलों पर सबसे विध्वंसक हमला कर बेहद उच्च सुरक्षा वाले सैन्य अड्डे में आठ लड़ाकू विमानों को नष्ट कर दिया।
वाशिंगटन:

अफगानिस्तान में 11 साल से चले आ रहे युद्ध में पहली बार तालिबान ने अमेरिका और नाटो बलों पर सबसे विध्वंसक हमला कर बेहद उच्च सुरक्षा वाले सैन्य अड्डे में आठ लड़ाकू विमानों को नष्ट कर दिया। इस हमले के बाद पेंटागन में खतरे की घंटी बज गई है।

अफगानिस्तान में सबसे बड़े और बेहद सुरक्षित समझे जाने वाले हेलमंद प्रांत के कैंप बेस्टियन में 15 तालिबान लड़ाकों ने तीन टीमों के रूप में अमेरिकी सैनिकों की वर्दी पहन कर हमला किया। इसी अड्डे पर ब्रिटेन के प्रिंस हैरी भी नियुक्त हैं। न्यूयॉर्क टाइम्स ने पेंटागन द्वारा जारी हमले की पूर्ण जानकारी के हवाले से यह खबर दी है।

बताया गया है कि यह हमला आधी रात के समय हुआ और ऑटोमैटिक राइफलों, रॉकेट लॉन्चरों और आत्मघाती जैकेटों से लैस तालिबान टीमों ने एयरफील्ड के सबसे करीब की दीवार में सेंध लगाई और उसके बाद अपने लक्ष्यों की ओर बढ़ गए। वहां गोलीबारी करते हुए तालिबान लड़ाकों ने अड्डे पर खड़े नेवी एवी 8-बी हैरियर जेट्स को आग लगा दी और ईंधन भरने के तीन स्टेशनों को नष्ट कर दिया।

त्वरित कार्रवाई के तहत इनका मुकाबला करने के लिए बलों को भेजा गया। अमेरिकी सैन्य सूत्रों ने बताया कि तालिबान टीम के लड़ाकों ने तीन घंटे से अधिक समय तक युद्ध किया और काबू पाए जाने से पूर्व उन्होंने विमान को बम से उड़ा दिया।


अमेरिकी बयान में कहा गया है, छह एवी 8-बी हैरियर लड़ाकू विमान नष्ट कर दिए गए और दो काफी क्षतिग्रस्त हो गए। तीन ईंधन भरने वाले स्टेशन भी नष्ट कर दिए गए। छह एयरक्राफ्ट हैंगर को भी कुछ नुकसान पहुंचा है। अमेरिका ने इस हमले में 20 करोड़ डॉलर से अधिक का नुकसान होने का अनुमान लगाया है, क्योंकि छह लड़ाकू विमानों की कीमत 23 लाख डॉलर से 30 लाख डॉलर के बीच मानी जा रही है।

टिप्पणियां

इस हमले में दो अमेरिकी मैरीन मारे गए तथा एक असैनिक ठेकेदार समेत गठबंधन सेना के नौ सैन्यकर्मी घायल हो गए। सेना ने एक बयान में यह जानकारी दी है।

प्रिंस हैरी इस समय हेलीकॉप्टर पायलट के रूप में ड्यूटी कर रहे हैं और वह हमले के समय कैंप बेस्टियन में ही मौजदू थे, लेकिन उन्हें किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ। कैंप बेस्टियन में अधिकतर ब्रिटिश सैनिक हैं, जबकि समीप के लैदरनेक कैंप में अमेरिकी मैरीन्स तथा अन्य सेवाओं के सदस्य हैं।



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement