यह ख़बर 14 अगस्त, 2012 को प्रकाशित हुई थी

टेक्सास विश्वविद्यालय के पास गोलीबारी में तीन की मौत

टेक्सास विश्वविद्यालय के पास गोलीबारी में तीन की मौत

खास बातें

  • टेक्सास स्थित एक विश्वविद्यालय के पास एक व्यक्ति ने एक कांस्टेबल सहित दो लोगों की गोली मार कर हत्या कर दी और तीन अन्य को घायल कर दिया। इस घटना में हमलावर भी मारा गया।
ह्यूस्टन:

टेक्सास स्थित एक विश्वविद्यालय के पास एक व्यक्ति ने एक कांस्टेबल सहित दो लोगों की गोली मार कर हत्या कर दी और तीन अन्य को घायल कर दिया। इस घटना में हमलावर भी मारा गया।

अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को टेक्सास के ए एंड एम विश्वविद्यालय के पास गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में गोलीबारी करने वाले व्यक्ति के अलावा एक कांस्टेबल और एक अज्ञात नागरिक शामिल है।

सहायक पुलिस प्रमुख स्कॉट मैक्कोलम ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि टेक्सास ए एंड एम विश्वविद्यालनय के पास स्थित एक रिहायशी इलाके में तीन लोगों की गोलीबारी में मौत हो गई।

मैक्कॉलम ने घटनास्थल के हालात के बारे में कहा, ‘‘स्थिति खराब थी। हमने लोगों से शांति की अपील की।’’ इस घटना में तीन अन्य लोग घायल हुए हैं। इनमें दो विधि प्रवर्तन अधिकारी और एक महिला नागरिक शामिल है। इससे पहले मैक्कॉलम ने कहा था कि घटना में बहुत सारे लोगों को गोली लगी है। यह घटना सोमवार दोपहर की है।

पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर संदिग्ध बंदूकधारी को गोली मार दी और हिरासत में ले लिया। जैसन जेम्स नाम के एक पुलिस अधिकारी ने दोपहर में बताया कि पुलिस घटना में और लोग शामिल हैं या नहीं, इसकी छानबीन कर रही है। हालांकि इलाका अब सुरक्षित है।

Newsbeep

विश्वविद्यालय प्रशासन ने दोपहर ‘गोलीबारी’ की जानकारी मिलने पर छात्रों को सुरक्षा संबंधी चेतावनी जारी की थी। वहीं, 12 बजकर 44 मिनट पर विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जानकारी दी गई कि संदिग्ध हमलावर को ‘हिरासत’ में ले लिया गया है। विश्वविद्यालय की प्रवक्ता शर्लिन कैरोल ने कहा कि कल ज्यादातर छात्र परिसर में नहीं थे क्योंकि नया सेमेस्टर 27 अगस्त से पहले शुरू नहीं होगा।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


विश्वविद्यालय परिसर ह्यूस्टन शहर के 90 मील उत्तर-पश्चिम में स्थित है। विश्वविद्यालय में 50 हजार से ज्यादा छात्र पढ़ते हैं। इससे पूर्व कुछ दिन पहले विस्कोंसिन के एक गुरुद्वारे में गोलीबारी की घटना में छह लोग मारे गए थे।