NDTV Khabar

थाईलैंड में गुफा से बचाए गए बच्चों को अस्पताल से मिली छुट्टी, बोले- 'मौत के मुंह से लौटना चमत्कार जैसा'

थाईलैंड में पानी से भरी एक गुफा में फंसे जिन बच्चों को करिश्माई ढंग से बचाया गया था, उन्हें आज अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. गुफा में 12 बच्चे अपने फुटबॉल कोच समेत फंस गए थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
थाईलैंड में गुफा से बचाए गए बच्चों को अस्पताल से मिली छुट्टी, बोले- 'मौत के मुंह से लौटना चमत्कार जैसा'

18 दिन तक थाइलैंड के च्यांग राइ की डरावनी गुफा में मौत से लड़कर निकले जूनियर फुटबॉल टीम के ख़िलाड़ी.

खास बातें

  1. गुफा में 18 दिन तक फंसे रहे 12 बच्चे
  2. घर लौटने से पहले की प्रेस कॉन्फ्रेंस
  3. एक बड़े ऑपरेशन के बाद निकाले गए
चियांग राय (थाईलैंड) : थाईलैंड में पानी से भरी एक गुफा में फंसे जिन बच्चों को करिश्माई ढंग से बचाया गया था, उन्हें आज अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. गुफा में 12 बच्चे अपने फुटबॉल कोच समेत फंस गए थे. 18 दिन तक थाइलैंड के च्यांग राइ की डरावनी गुफा में मौत से लड़कर निकले जूनियर फुटबॉल टीम के ख़िलाड़ी आज मीडिया के सामने आए. इन बच्चों ने उन खौफनाक 18 दिनों को याद किया और कहा कि वहां से सुरक्षित बाहर आना किसी चमत्कार से कम नहीं है. इन बच्चों ने मीडिया के सवालों के जवाब भी दिए.

यह भी पढ़ें : थाईलैंड की गुफा में कोच ने खुद की जिंदगी दांव पर लगाकर ऐसे बचाई बच्‍चों की जान, फुटबॉल सिखाने से पहले था साधु

उन्होंने बचाव अभियान के दौरान एक गोताखोर की मौत पर दुख जताते कहा कि वो इसके लिए खुद को कसूरवार मानते हैं. इन बच्चों ने अपने भविष्य को लेकर भी चर्चा की. किसी ने कहा कि वो नेशनल फुटबॉल टीम के लिए खेलना चाहता है तो किसी ने नेवी सील बनने की बात कही.
 
इससे पहले टीम के बच्चों को फुटबॉल किट पहने तीन मिनी बसों में सवार होकर अस्पताल से निकलते देखा गया. उन्हें उत्तरी थाईलैंड में चियांग राय प्रांत के अस्पताल में भर्ती कराया गया था.


यह भी पढ़ें :  थाईलैंड बचाव कार्य में इंडिया कनेक्शन, गुफा से बच्चों को सुरक्षित निकालने में भारतीय कंपनी ने ऐसे दिया बड़ा योगदान

'वाइल्ड बोअर्स' क्लब के इन खिलाड़ियों को निर्धारित दिन से एक दिन पहले ही छुट्टी दे दी गई. बच्चे आज अपने-अपने घर पहुंच जाएंगे. 

VIDEO: थाईलैंड: सबसे मुश्किल रेस्क्यू ऑपरेशन का वीडियो आया सामने


चिकित्सकों ने बच्चों के परिजनों से कहा है कि वे कम से कम महीने तक उन्हें पत्रकारों के संपर्क में नहीं आने दें. हालांकि, बताया जा रहा है कि बच्चे और उनके कोच की मानसिक और शारीरिक स्थिति ठीक है.

टिप्पणियां
बता दें कि 11 से 16 वर्ष की आयु वर्ग के ये बच्चे अपने कोच के साथ गत थाम लुआंग गुफा परिसर में घूमने गए थे. उसके बाद से उनका कोई पता नहीं चल पा रहा था. बाद में कई देशों की मदद से थाईलैंड सरकार ने राहत एवं बचाव अभियान चलाया, जिसके बाद उनका पता लगाया जा सका. कई दिनों के अभियान के बाद उन सभी को सुरक्षित बचा लिया गया.

(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement