NDTV Khabar

परिवारों को अलग करने के खिलाफ विरोध का चेहरा बनी लड़की अपनी मां से मिली 

अमेरिका में ट्रंप प्रशासन की प्रवासी परिवारों को सीमा पर अलग करने की नीति के खिलाफ विरोध की प्रतीक बनकर उभरी अल - सलवाडोर की छह साल की एक बच्ची को उसकी मां से मिला दिया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
परिवारों को अलग करने के खिलाफ विरोध का चेहरा बनी लड़की अपनी मां से मिली 

अमेरिका में अल - सलवाडोर की छह साल की एक बच्ची को उसकी मां से मिला दिया गया है.

ह्यूस्टन: अमेरिका में ट्रंप प्रशासन की प्रवासी परिवारों को सीमा पर अलग करने की नीति के खिलाफ विरोध की प्रतीक बनकर उभरी अल - सलवाडोर की छह साल की एक बच्ची को उसकी मां से मिला दिया गया है. अमेरिका में अवैध तरीके से घुसने के आरोप में अमेरिकी अधिकारियों द्वारा हिरासत में लिये जाने के बाद 13 जून को टेक्सस में हरलिंगेन के पास एलिसन जिमेना वालेंसिया मैड्रिड और उसकी मां सिंडी मैड्रिड को अलग कर दिया गया था। जब उन्हें अलग किया जा रहा था तब बच्ची के रोने की आवाज सबसे पहले प्रो - पब्लिका ने प्रसारित की और बाद में असोसिएटेड प्रेस ने परिवारों को अलग किये जाने के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया। एलिसन ने सीमा गश्ती दल के सदस्यों से अपनी एक रिश्तेदार से बात कराने का अनुरोध किया जिनका नंबर उसे याद था.

व्यापार युद्ध : अमेरिका ने चीन से 200 अरब डॉलर की वस्तुओं पर 10% आयात शुल्क और लगाया

अमेरिका में अवैध प्रवासियों को कतई बर्दाश्त ना करने की नीति में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 20 जून को परिवारों को अलग करने के फैसले में बदलाव किया। ह्यूस्टन में शुक्रवार को मां - बेटी का फिर से मिलन हुआ। एलिसन ने संवाददाताओं को बताया कि परिवार से अलग किये जाने के बाद वह हताश थी और परिवार से फिर मिलकर वह खुश है। उसकी मां ने भी ऐसे ही विचार व्यक्त किए. 

अमेरिका में लोग डोनाल्ड ट्रंप से ज्यादा अच्छा राष्ट्रपति मानते हैं इनको, ऐसे निकाले नतीजे

टिप्पणियां
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement