NDTV Khabar

मंगल के अध्ययन से पृथ्वी पर जीवन की उत्पत्ति का मिल सकता है सुराग, नासा के वैज्ञानिकों ने की खोज

शोधकर्ताओं ने नासा के ‘मार्स रिकानसंस आर्बिटर’ (एमआरओ) द्वारा मंगल के दक्षिणी हिस्से के बेसिन में एक बड़े निक्षेप (जमा गाद) का पता लगाया है.

1Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मंगल के अध्ययन से पृथ्वी पर जीवन की उत्पत्ति का मिल सकता है सुराग, नासा के वैज्ञानिकों ने की खोज

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

वाशिंगटन: नासा के वैज्ञानिकों ने मंगल पर समुद्री तल के हाइड्रोथर्मल (गर्म जल) होने के प्राचीन साक्ष्य का पता लगाया है. यह पृथ्वी पर जीवन की उत्पत्ति के बारे में सुराग मुहैया कर सकता है. शोधकर्ताओं ने नासा के ‘मार्स रिकानसंस आर्बिटर’ (एमआरओ) द्वारा मंगल के दक्षिणी हिस्से के बेसिन में एक बड़े निक्षेप (जमा गाद) का पता लगाया है. उनके विश्लेषण में पता चला कि ये निक्षेप ग्रह की ऊपरी परत के सक्रिय ज्वालामुखी से निकले गर्म जल के निक्षेप से बने हैं. अमेरिका स्थित नासा के जॉनसन स्पेस सेंटर के पॉल नील्स ने बताया कि यदि हमें मंगल पर जीवन के बारे में कभी साक्ष्य नहीं मिला तो भी यह हमें इस बारे में बता सकता है कि पृथ्वी पर जीवन शुरू होने के समय किस तरह का पर्यावरण था.

यह भी पढ़ें : अमेरिका के उप राष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा, मनुष्य को फिर से चांद पर भेजेगा नासा

गौरतलब है कि मंगल पर आज के समय में ना तो जल है ना ही ज्वालामुखीय गतिविधि होती है. शोधकर्ताओं का अनुमान है कि करीब 3. 7 अरब वर्ष पहले मंगल के निक्षेप समुद्र तल की हाइड्रोथर्मल गतिविधि से बने.
 
VIDEO : ब्रह्मांड की सबसे ठंडी जगह बनाने में जुटे वैज्ञानिक...​

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement