NDTV Khabar

आतंकियों के लगातार निशाने पर है इंग्लैंड, प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने पहले ही कर दी थी आतंकी हमलों की घोषणा

इंग्लैंड की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने मैनचेस्टर हमले के फौरन बाद ही घोषणा की थी कि लंदन में एक बड़ा आतंकी हमला होगा. इस घोषणा के बाद सुरक्षा इंतजाम और कड़े कर दिए थे.

453 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
आतंकियों के लगातार निशाने पर है इंग्लैंड, प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने पहले ही कर दी थी आतंकी हमलों की घोषणा

मैनचेस्टर हमले के बाद इंग्लैंड में प्रमुख जगहों पर पुलिस के साथ सेना तैनात कर दी गई थी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 22 मार्च को वेस्टमिंस्टर ब्रिज हमले में 5 लोग की मौत हुई थी
  2. 22 मई को मैनचेस्टर ब्लास्ट में 22 लोग मारे गए थे, 120 घायल हुए थे
  3. 3 मई को लंदर ब्रिज पर कार से हमला, चाकू चले और गोलीबारी हुई
नई दिल्ली: शनिवार को लंदन में सिलसिलेवार आतंकी हमले हुए. पहला हमला लंदन ब्रिज पर हुआ, जिसमें तेज रफ्तार वैन ने पैदल यात्रियों को कुचल दिया. इसमें कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए. इस घटना के फौरन बाद ही लंदन ब्रिज के नजदीक बॉरो मार्केट के एक रेस्तरां में एक चाकूधारी युवक ने धावा बोल दिया. उसने दो लोगों को चाकू मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया. इसके अलावा यहां पास ही के वॉक्सहॉल इलाके में गोलीबारी के समाचार हैं. पुलिस इस घटनाओं में तीन संदिग्धों की तलाश कर रही है.

खास बात यह है कि यह हमला उस वक्त हुआ है जब इंग्लैंड में क्रिकेट की चैंपियंस ट्रॉफी मुकाबलों का आयोजन किया जा रहा है. इस सिलसिले में यहां बड़ी संख्या में अन्य देशों के लोग भी आए हुए हैं. 

पिछले कुछ दिनों से लंदन आतंकी गुटों के निशाने पर है. मई महीने में ही यहां दो बड़े आतंकी हमले हुए थे. एक हमला लंदन ब्रिज की तर्ज पर यहां के वेस्टमिंस्टर ब्रिज पर हुआ. इसमें भी एक तेज गति की कार लोगों को कुचलती हुई चली गई. 

लंदन ब्रिज पर हुई इस घटना ने पिछले महीने लंदन के ही वेस्टमिंस्टर ब्रिज आतंकवादी हमले की याद ताजा कर दी है, जिसमें 5 लोगों की मौत हुई थी और 50 से अधिक लोग घायल हुए थे. 22 मार्च को खालिद मसूद नामक एक व्यक्ति ने यहां पैदल लोगों पर कार चढ़ा दी थी. बाद में इसने एक पुलिसकर्मी की चाकू मार कर हत्या कर दी थी. हालांकि पुलिस ने हमलावर को मार गिराया था.

22 मई को इंग्लैंड के मैनचेस्टर में एक संगीत समारोह के दौरान आत्मघाती हमला हुआ था. इसमें 22 लोगों की मौत हुई थी. यहां एक स्टेडियम अमेरीकी पॉप गायक एड्रियाना ग्रांड का कार्यक्रम चल रहा था. कार्यक्रम खत्म होने बाद एक आत्मघाती हमलावर ने स्टेडियम के मुख्य द्वार के पास खुद को उड़ा लिया था. इस घटना में 100 से अधिक लोग घायल हुए थे. इस हमले की पीछे चरमपंथी आईएस का हाथ था. इस सिलसिले में पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया था. 

मजेदार बात यह है कि इस घटना के फौरन बाद ही यहां की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने जल्द ही बड़े आतंकी हमले की आशंका जताई थी. प्रधानमंत्री की आशंका के बाद यहां के सुरक्षा इंतजाम कड़े कर दिए गए थे. 
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement