NDTV Khabar

ब्रिटिश राजनयिक ने 'गलती' से स्वर्ण मंदिर को लिख दिया 'स्वर्ण मस्जिद', विवाद होने पर माफी मांगी

ब्रिटेन के एक शीर्ष राजनयिक ने भारत के सबसे पवित्र स्थलों में से एक स्वर्ण मंदिर को एक मस्जिद करार दे दिया. हालांकि बाद में उन्होंने अपनी भूल के लिए माफी मांग ली.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ब्रिटिश राजनयिक ने 'गलती' से स्वर्ण मंदिर को लिख दिया 'स्वर्ण मस्जिद', विवाद होने पर माफी मांगी

अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर की फाइल फोटो.

लंदन:

ब्रिटेन के एक शीर्ष राजनयिक ने भारत के सबसे पवित्र स्थलों में से एक स्वर्ण मंदिर को एक मस्जिद करार दे दिया. इस पर सिख समुदाय के विरोध के बीच उन्हें अपनी इस भूल के लिए माफी मांगनी पड़ी. विदेश एवं राष्ट्रमंडल कार्यालय के स्थायी अवर सचिव साइमन मैक्डॉनल्ड ने एक दिन पहले एक ट्वीट में अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर को 'स्वर्ण मस्जिद' (गोल्डन मॉस्क) लिख दिया था.

उन्होंने ट्वीट किया, 'महारानी की जन्मदिन पार्टी में 1997 में अमृतसर के स्वर्ण मस्जिद (गोल्डन मॉस्क) में महारानी की तस्वीर भेंट की गई. उप-उच्चायोग के दीवार के लिए स्थायी स्मृति चिह्न के तौर पर इसे भेंट किया गया.' अपनी भूल का एहसास होने पर मैक्डॉनल्ड ने माफी मांगी. विदेश कार्यालय के शीर्ष राजनयिक ने कहा, 'मैं गलत था. मुझे दुख है. मुझे स्वर्ण मंदिर (गोल्डन टेंपल) या इससे भी अच्छा श्री हरमिंदर साहिब कहना चाहिए था.' बहरहाल, सिख फेडरेशन के अध्यक्ष भाई अमरीक सिंह ने कहा, 'यह एक शीर्ष सिविल सेवक की बड़ी चूक थी और यह पूरी तरह अस्वीकार्य है. यह उनके जैसे कद के व्यक्ति में काफी बेपरवाही दिखाता है.'

टिप्पणियां

'द गार्डियन' ने अमरीक के हवाले से कहा, 'मेरी राय में सार्वजनिक तौर पर माफी मांगना और गलती कबूल करना काफी नहीं है. हमें ब्रिटिश सरकार और वरिष्ठ सिविल सेवकों से प्रतिबद्धता की दरकार है ताकि ऐसी बेपरवाही और भेदभाव खत्म हो या फिर हम नफरत, अभद्रता और हिंसा की धमकियों का सामना करते रहें.' मैक्डॉनल्ड ने यह चूक ऐसे समय में की है जब लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कॉर्बिन ने लेबर सरकार बनने पर अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में 1984 में भारतीय सेना की छापेमारी में ब्रिटिश सेना की भूमिका की स्वतंत्र जांच कराने की योजना की घोषणा की है.


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement