ट्रम्प ने फॉक्स न्यूज से रिपोर्टर को निकालने के लिए कहा: '''कमेंट के लिए हमें कभी फोन न करें''

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मांग की है कि फॉक्स न्यूज अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा संवाददाता को नौकरी से निकाले दे क्योंकि संवाददाता ने दावा किया था कि ट्रंप ने सेना की निंदा की है और अपशब्दों का इस्तेमाल किया.

ट्रम्प ने फॉक्स न्यूज से रिपोर्टर को निकालने के लिए कहा: '''कमेंट के लिए हमें कभी फोन न करें''

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो).

वाशिंगटन:

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मांग की है कि फॉक्स न्यूज अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा संवाददाता को नौकरी से निकाले दे क्योंकि संवाददाता ने दावा किया था कि ट्रंप ने सेना की निंदा की है और अपशब्दों का इस्तेमाल किया. अटलांटिक पत्रिका की रिपोर्ट के बाद ट्रम्प आग बबूला हो गए. दरअसल रिपोर्ट में कहा गया कि नवंबर 2018 की फ्रांस यात्रा के दौरान ट्रंप ने विश्व युद्ध में जान गंवाने वाले सैनिको की निंदा की और फ्रांस में अमेरिकी सैन्य कब्रिस्तान की यात्रा को टाल दिया था. उस समय उस यात्रा को टालने की आधिकारिक वजह खराब मौसम बताई गई थी.

यह भी पढ़ें: 'क्या भारत को धौंस दिखा रहा चीन?', इस सवाल पर डोनाल्ड ट्रंप ने दिया ये जवाब

फॉक्स न्यूज की संवाददाता जेनिफर ग्रिफिन ने कहा कि दो पूर्व प्रशासन अधिकारियों ने उनसे पुष्टि की थी कि राष्ट्रपति ने पेरिस के बाहर सैन्य कब्रिस्तान जाने और शहीदों का श्रद्धांजलि देने से मना कर दिया था. हालांकि मौसम खराब नहीं था जैसा कि कहा गया. एक अधिकारी ने उनसे यह भी बताया कि ट्रम्प ने सेना की निंदा की. ट्रंप ने वियतनाम युद्ध को फिजूल बताया और उसमें जाने वाले सैनिकों को भी. "जब राष्ट्रपति ट्रंप ने वियतनाम युद्ध के बारे में बात की, तो उन्होंने कहा, 'यह एक मूर्खतापूर्ण युद्ध था."

सूत्रों ने कहा, "ट्रंप समझ नहीं सकते कि कोई अपने देश के लिए क्यों मरेगा, वे इसके लायक नहीं."  हालांकि ट्रम्प ने शुक्रवार देर रात ट्वीट किया: "जेनिफर ग्रिफिन को इस तरह की रिपोर्टिंग के लिए निकाल दिया जाना चाहिए. कभी भी टिप्पणी के लिए हमारे पास नहीं आएं." ट्रम्प ने द अटलांटिक में इस रिपोर्ट के मद्देनजर खुद का बचाव किया है और इस खबर को "फर्जी खबर" बताया है.

Newsbeep

यह भी पढ़ें:"पीएम मोदी मेरे बहुत अच्छे मित्र हैं, भारतीय-अमेरिकी मेरे लिए वोट करेंगे" : डोनाल्ड ट्रंप

दरअसल शनिवार को पत्रिका के फ्रंट पेज पर एक खबर छपी थी: "सूत्रों का दावा है कि ट्रम्प ने सैन्य कब्रिस्तान की यात्रा को टाला और शहीदों का तिरस्कार किया." फॉक्स में ग्रिफिन के कई सहयोगियों और रिपब्लिकन कांग्रेस के अध्यक्ष एडम किंजिंगर ने सार्वजनिक रूप से ट्विटर पर पत्रकार का बचाव किया,जिन्होंने पत्रकार को "निष्पक्ष और बेखौफ" बताया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


द अटलांटिक ने अपनी खबर प्रकाशित करने से ठीक पहले मिलिट्री टाइम्स के एक सर्वेक्षण और सिरैक्यूज़ यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट फॉर वेटरन्स एंड मिलिट्री फैमिलीज के एक सर्वेक्षण में पाया कि सक्रिय ड्यूटी कर्मियों में सिर्फ 37.4 प्रतिशत ट्रम्प की वापसी का समर्थन करते हैं, जबकि 43.1 प्रतिशत जो बिडेन को राष्ट्रपति देखना चाहते हैं.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)