NDTV Khabar

ट्रंप ने पहले गिराया कहर, फिर कहा- युवा प्रवासियों के लिए है गहरा प्यार

अमेरिका में डीएसीए को निरस्त करने के फैसले को लेकर डोनाल्ड ट्रंप की कटु आलोचना

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ट्रंप ने पहले गिराया कहर, फिर कहा- युवा प्रवासियों के लिए है गहरा प्यार

डोनाल्ड ट्रंप ने डीएसीए कार्यक्रम बंद करने के बाद कहा कि युवा प्रवासियों के लिए प्यार है.

खास बातें

  1. आठ लाख कर्मचारियों के लिए बना एमनेस्टी कार्यक्रम निरस्त
  2. फैसले से सात हजार से ज्यादा भारतीय-अमेरिकी प्रभावित
  3. ट्रंप ने कहा- कांग्रेस उचित ढंग से मदद करने में समर्थ होगी
वाशिंगटन:

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह उन युवा प्रवासियों से बेहद प्यार करते हैं, जो बचपन में अमेरिका आए थे. उन्होंने उम्मीद जताई कि कांग्रेस इन प्रवासियों की मदद के लिए कोई विधेयक लेकर आएगी. ट्रंप ने अपने इस बयान से कुछ घंटे पहले ही बिना दस्तावेज वाले आठ लाख कर्मचारियों के लिए बने एमनेस्टी कार्यक्रम को निरस्त किया था.

अमेरिकी अटॉर्नी जनरल जेफ सेशन्स ने कल डीएसीए (डेफर्ड एक्शन फॉर चिल्ड्रेन अराइवल) को निरस्त करने की घोषणा की. यह ओबामा के कार्यकाल के दौरान का एक एमनेस्टी कार्यक्रम है, जिसके तहत बचपन में अवैध रूप से अमेरिका पहुंचे प्रवासियों को वर्क परमिट दिए गए थे. ट्रंप का हालिया कदम बिना दस्तावेजों वाले आठ लाख कर्मचारियों को प्रभावित कर सकता है. इनमें सात हजार से ज्यादा भारतीय-अमेरिकी शामिल हैं.

यह भी पढ़ें : ओबामा ने की ट्रंप की निंदा, कहा- प्रवासियों को दी गई एमनेस्टी को रद्द करना निर्ममता


टिप्पणियां

ट्रंप ने कल व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘‘जिन लोगों के बारे में हम बात कर रहे हैं, उनके लिए मेरे दिल में गहरा प्यार है. लोग उन्हें बच्चों के तौर पर देखते हुए सोचते हैं लेकिन वास्तव में वे युवा हैं. मैं इन लोगों से प्यार करता हूं और उम्मीद करता हूं कि कांग्रेस उनकी उचित ढंग से मदद करने में समर्थ होगी.’’ ट्रंप के इस फैसले की व्यापक आलोचना हुई है. पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी इस कदम की आलोचना की है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement