ट्यूनीशिया के पीएम पर पद छोड़ने का दबाव

खास बातें

  • लोकतांत्रिक सुधार के लिए उथल-पुथल से निपटने के अमेरिकी आह्वान के बाद प्रधानमंत्री मोहम्मद धन्नोची पर पद छोड़ने के लिए दबाव बढ़ता जा रहा है।
ट्यूनिश:

ट्यूनीशिया में प्रमुख कारोबारी संगठन की तरफ से सरकार को निशाना बनाए जाने और लोकतांत्रिक सुधार के लिए उथल-पुथल से निपटने के अमेरिकी आह्वान के बाद प्रधानमंत्री मोहम्मद धन्नोची पर पद छोड़ने के लिए दबाव बढ़ता जा रहा है। ट्यूनिश और अन्य शहरों में शनिवार को हजारों प्रदर्शन हुए, जबकि यूजीटीटी संगठन समर्थित सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने राजधानी में मार्च का आयोजन किया, जहां पिछले महीने जिने अल अबीदीन बेन अली के 23 साल के शासन के खात्मे के लिए बगावत फूट पड़ी थी। मार्च में हिस्सा ले रहे प्रदर्शनकारियों ने अपने विरोध प्रदर्शन को मुक्ति का कारवां करार दिया। पिछले महीने बगावत के बाद सुरक्षा बलों द्वारा मार गिराए गए प्रदर्शनकारी के इलाके मेंजेल बोउजाईनी के एक शिक्षक राबिया (40) ने बताया, इस कारवां का मकसद सरकार को गिराना है। ट्यूनिश में शांतिपूर्ण सरकार विरोधी प्रदर्शन में सैकड़ों पुलिस अधिकारियों ने हिस्सा लिया। उनमें से कुछ ने अंतरिम राष्ट्रपति फोउद मेबाजा, संसद के स्पीकर की कार को कुछ समय तक रोके रखा। बेन अली के खिलाफ आंदोलन में प्रमुख भूमिका निभाने वाले संगठन द जेनरल यूनियन ऑफ ट्यूनीशियन वर्कर्स (यूजीटीटी) ने नई सरकार को मानने से अस्वीकार कर दिया है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com