जबरदस्त भूकंप से दहले तुर्की और ग्रीस, 22 की मौत, डिप्टी मेयर बोले- ऐसा पहले कभी नहीं देखा

ग्रीस (Greece) और तुर्की (Turkey Earthquake) में शुक्रवार को आए जबरदस्त भूकंप की वजह से करीब 22 लोगों की मौत हुई है.

जबरदस्त भूकंप से दहले तुर्की और ग्रीस, 22 की मौत, डिप्टी मेयर बोले- ऐसा पहले कभी नहीं देखा

भूकंप से कई इमारतें गिर गईं. (फाइल फोटो)

इस्तांबुल:

ग्रीस (Greece) और तुर्की (Turkey Earthquake) में शुक्रवार को आए जबरदस्त भूकंप की वजह से करीब 22 लोगों की मौत हुई है. तुर्की के तट और यूनान के सामोस प्रायद्वीप के बीच एजियन सागर में यह भूकंप आया था. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 7.0 मापी गई. इस्तांबुल स्थित कांडिली वेधशाला एवं भूकंप अनुसंधान संस्थान के निदेशक हलूक ओजेनर ने कहा कि इजमिर जिले के सेफेरिसार में छोटी सुनामी भी आई है. भूकंप के बाद ग्रीक प्रधानमंत्री क्यारीकोस मित्सोतकिस ने तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन को अपनी संवेदना और समर्थन देने के लिए फोन पर बात की. दोनों के बीच प्रतिद्वंदिता भी किसी से छुपी नहीं है.

तुर्की में भूकंप के चलते 20 लोगों की मौत हुई है और 800 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. ग्रीस में 2 किशोरों की मौत हुई है और दर्जनों घायल हुए हैं. सामोस में दोनों किशोर स्कूल से घर लौट रहे थे, इसी दौरान दीवार की चपेट में आने से उनकी मौत हो गई. डिप्टी मेयर गियोरगोस दियोन्यूसियो ने कहा, 'ये भयानक था. हमने पहले कभी इस तरह का अनुभव नहीं किया.'

32 साल के कूरियर बॉय गोखान कन ने कहा, 'मैंने सोचा, क्या ये हमारा अंत है. भूकंप करीब 10 मिनट तक महसूस हुआ. ऐसा लग रहा था मानो ये कभी खत्म नहीं होगा. उस समय मैं डरा हुआ था, अपने लिए नहीं बल्कि अपने परिवार के लिए, अपनी पत्नी और चार साल के बेटे के लिए.'

ग्रीस और तुर्की में जोरदार भूकंप के बाद आई सुनामी : रिपोर्ट

तुर्की के आपदा एवं आपातकालीन प्रबंधन विभाग ने बताया कि तुर्की के तीसरे सबसे बड़े शहर इजमिर में 6 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है जबकि करीब सैकड़ों लोग घायल हुए हैं. इजमिर के गवर्नर यावूज सलीम कोसगर ने कहा कि भूकंप की वजह से कई इमारतें गिर गईं. मलबे से 100 से ज्यादा लोगों को बाहर निकाला गया. उन्होंने कहा कि चार इमारतें ध्वस्त हो चुकी हैं. इसके अलावा कई इमारतें क्षतिग्रस्त हुई हैं.

प्रबंधन विभाग ने बताया कि राहत कार्य जारी हैं. मलबे में दबे लोगों के होने की आशंका के चलते युद्ध स्तर पर बचाव अभियान चलाया जा रहा है. विभाग ने बताया कि भूकंप का केंद्र एजियन सागर में 16.5 किलोमीटर नीचे था. वहीं यूनानी मीडिया ने कहा कि भूकंप के दौरान सामोस और अन्य प्रायद्वीपों के निवासी अपने-अपने घरों से बाहर निकलकर भागे. इसके अलावा वहां चट्टान गिरने की खबर भी मिल रही है.

Newsbeep

VIDEO: दिल्ली में महसूस किए गए भूकंप के झटके

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com