अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की धमकी पर ट्विटर के CEO ने दिया करारा जवाब, किया यह ट्वीट....

अमेरिकी राष्‍ट्रपति के साथ अपनी तनातनी और बढ़ने की आशंका के बीच डोर्सी ने कंपनी के कर्मचारियों को इस विवाद से दूर रखने की अपील की.ट्विटर के सीईओ ने ट्वीट किया, "तथ्य की जांच: एक कंपनी के रूप में हमारे कार्यों के लिए अंततः कोई जवाबदेह है, और वह मैं हूं.''

अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की धमकी पर ट्विटर के CEO ने दिया करारा जवाब, किया यह ट्वीट....

जैक डोर्सी ने ट्वीट करके अपनी कंपनी का रुख साफ किया है

नई दिल्ली:

ट्विटर के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी (CEO) जैक डोर्सी ने दुनियाभर में चुनावों के दौरान गलत और विवादास्पद जानकारी को उजागर करने के अपने रुख को सख्त कर लिया है. अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की ओर से उनके पोस्‍ट को लेकर ट्विटर की प्रतिक्रिया को लेकर सोशल मीडिया को बंद करने की धमकी के बाद डोर्सी की ओर से यह प्रतिक्रिया सामने आई है. अमेरिकी राष्‍ट्रपति के साथ अपनी तनातनी और बढ़ने की आशंका के बीच डोर्सी ने कंपनी के कर्मचारियों को इस विवाद से दूर रखने की अपील की.ट्विटर के सीईओ ने ट्वीट किया, "तथ्य की जांच: एक कंपनी के रूप में हमारे कार्यों के लिए अंततः कोई जवाबदेह है, और वह मैं हूं. कृपया हमारे कर्मचारियों को बख्‍श दें. हम वैश्विक स्तर पर चुनावों के बारे में गलत या विवादित जानकारी की सामने लाना जारी रखेंगे और हम गलतियां करते हैं उन्‍हें भी स्‍वीकार करेंगे. डोर्सी ने कहा, "यह हमें 'सत्य का पहरेदार नहीं बना देगा. हमारा इरादा ट्विटर विवादित बयानों के जोड़ना और विवाद में जानकारी दिखाना है ता‍कि लोग खुद ब खुद इसकी सत्‍यता के बारे में जांच सके. हमारे लिए अधिक पारदर्शिता महत्वपूर्ण है, इसलिए लोग हमारे कार्यों के पीछे के उद्देश्‍य को साफ तौर पर समझ सकते हैं.'

गौरतलब है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने हाल ही में ट्विटर के खिलाफ नए कड़े नियम लाने या उसे बंद करने की धमकी दी है. ट्विटर की ओर से राष्ट्रपति के दो ट्वीट पर ‘फैक्ट चेक' की चेतावनी देने के बाद ट्रम्प ने यह धमकी दी है. राष्ट्रपति हालांकि स्वयं कम्पनियों को विनियमित या बंद नहीं कर सकते और ऐसा कोई भी कदम उठाने के लिए कांग्रेस द्वारा ही कार्यवाही की जा सकती है. संघीय संचार आयोग को प्रौद्योगिकी कम्पनियों को विनियमित करने का अधिकार देने वाले एक प्रस्तावित कार्यकारी आदेश को उनके प्रशासन ने रद्द भी कर दिया है. लेकिन इसके बावजूद भी ट्रम्प ट्विटर पर चेतावनी देने से रुके नहीं.

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने ट्वीट किया, ‘‘कम्पनी रूढ़िवादी आवाजें दबाने की कोशिश कर रही है. हम ऐसा होने से पहले कड़े नियम बनाएंगे या इसे बंद कर देंगे.''उन्होंने फिर एक अन्य ट्वीट किया, ‘‘बड़ी कार्रवाई की जाएगी.'' ट्रम्प यहीं नहीं रुके और देर रात उन्होंने फिर ट्वीट किया, ‘‘टेक कम्पनी पूरी तरह पागल होती जा रही है. देखते रहिए.''इस बीच, प्रेस सचिव मेकएनी ने पत्रकारों को बताया कि ट्रम्प सोशल मीडिया कम्पनियों से जुड़े एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर करेंगे. (एपी से भी इनपुट)

VIDEO: मजदूरों के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, केंद्र सरकार को जारी किया नोटिस

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com