NDTV Khabar

ईरान के सरकारी मीडिया संगठनों के अकाउंट ट्विटर ने किए बंद

ब्रितानी टैंकर को ईरान द्वारा जब्त किए जाने के चलते क्षेत्र में पहले से ही व्याप्त तनाव बढ़ जाने के बीच कुछ प्रभावित मीडिया संगठनों ने आशंका जताई है कि ये रोक जब्ती से जुड़ी खबरे देनें के कारण लगाई गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ईरान के सरकारी मीडिया संगठनों के अकाउंट ट्विटर ने किए बंद

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. ईरान के सरकारी मीडिया संगठनों के अकाउंट ट्विटर ने किए बंद
  2. ट्विटर ने बंद किए गए खातों का नाम नहीं बताया
  3. कहा- मामले की जांच जारी है
नई दिल्ली:

ब्रितानी टैंकर को ईरान द्वारा जब्त किए जाने के चलते क्षेत्र में पहले से ही व्याप्त तनाव बढ़ जाने के बीच कुछ प्रभावित मीडिया संगठनों ने आशंका जताई है कि ये रोक जब्ती से जुड़ी खबरे देनें के कारण लगाई गई है. लेकिन सोशल नेटवर्किंग सेवा का कहना है कि यह बहाई धर्म से जुड़े लोगों को निशाना बनाकर उनके उत्पीड़न के खिलाफ की गई कार्रवाई है. बहाई अल्पसंख्यक समुदाय है जिसने लंबे से ईरान में दमन झेला है. ट्विटर ने बंद किए गए खातों का नाम नहीं बताया लेकिन कहा कि मामले की जांच जारी है. सभी ईरानी सरकारी मीडिया संगठनों के अकाउंट पर अंग्रेजी में लिखे संदेश में कहा गया है, 'अकाउंट बंद कर दिया गया है. ट्विटर नियमों का उल्लंघन करने वाले अकाउंट को ट्विटर ने बंद किया है.'

उत्तर प्रदेश: बिजली विभाग की बड़ी लापरवाही आई सामने, बुजुर्ग को धमाया 128 करोड़ रुपये का बिल


ईरान की मेहर संवाद समिति ने कहा कि फारसी भाषा का उसका अकाउंट शुक्रवार देर रात से ही बंद कर दिया गया मालूम होता है. इससे पहले उसने होरमुज जलडमरुमध्य में टैंकर स्टेना इंपेरो की जब्ती को लेकर खबर दी थी. मेहर के फारसी भाषा वाले ट्विटर पेज के अलावा सरकारी संवाद समिति आईआरएनए और यंग जर्नलिस्ट्स क्लब की एजेंसी का पेज भी शनिवार को खुल नहीं रहा था. मेहर ने गौर किया कि विदेश नीति पर साक्षात्कार एवं विश्लेषणों को प्रकाशित करने वाले उसका 'मेहर डिप्लोमेसी' का अकाउंट भी ऑफलाइन है. 

टिप्पणियां

आजम खान के बयान पर भड़के ये बॉलीवुड एक्टर, कहा- अब जा सकते हो पाकिस्तान, मैं दिलवाता हूं टिकट

बंद किए गए अकाउंट के किसी भी मालिक ने यह नहीं कहा कि ट्विटर के इस कदम के लिए उन्हें कोई कारण बताया गया हो। ट्विटर ईरान में प्रतिबंधित है लेकिन कई अधिकारियों के इस पर अकाउंट हैं और लोग वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) का इस्तेमाल कर इन तक पहुंचते हैं. (इनपुट:भाषा)
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement