Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

MH370 : रोबोटयुक्त पनडुब्बी ने निश्चित जल क्षेत्र के दो तिहाई भाग की खोज की

MH370 : रोबोटयुक्त पनडुब्बी ने निश्चित जल क्षेत्र के दो तिहाई भाग की खोज की

पर्थ:

रोबोटयुक्त लघु पनडुब्बी ने दुर्घटनाग्रस्त हुए, मलेशिया एयरलाइन्स के विमान एमएच370 की खोज के सिलसिले में हिन्द महासागर में आज अपना आठवां मिशन पूरा कर लिया, लेकिन अब तक विमान के मलबे का कुछ पता नहीं चल पाया है।

ब्लूफिन..21 पनडुब्बी पानी के एक निश्चित भाग में विमान के मलबे की तलाश कर रही है। अब तक वह इस निश्चित जलक्षेत्र के दो तिहाई हिस्से की खोज कर चुकी है।

साइड स्कैन सोनार उपकरण वाली इस अमेरिकी पनडुब्बी ने उस हिस्से में अपना खोज अभियान केंद्रित किया है, जहां चार एकॉस्टिक संकेत खोजे गए थे। संकेतों का पता चलने के बाद अधिकारियों का मानना है कि मलेशिया एयरलाइन्स के लापता विमान एमएच370 का ब्लैक बॉक्स यहां मिल सकता है।

खोज की अगुवाई कर रहे, पर्थ स्थित जॉइंट एजेन्सी कोऑर्डिनेशन सेंटर (जेएसीसी) ने एक बयान में कहा, आज सुबह, ब्लूफिन..21 एयूवी ने पानी के अंदर खोज वाले हिस्से में अपना आठवां मिशन पूरा किया। ब्लूफिन..21 ने आज तक उस जल क्षेत्र के दो तिहाई भाग में खोज कर ली है, जिसे विमान के मलबे की तलाश के लिए तय किया गया था। आज विमान के मलबे की खोज का 45वां दिन है और बयान में कहा गया है कि अब तक कोई महत्वपूर्ण संपर्क नहीं मिल पाया है। ब्लूफिन..21 एयूवी का नौवां मिशन आज ही शुरू हो जाएगा।

पांच भारतीयों सहित 239 लोगों को लेकर जा रहा बोइंग 777..200 आठ मार्च को रहस्यमय तरीके से लापता हो गया था। विमान की खोज में आज 10 सैन्य विमान और 11 पोत मदद करेंगे।

ऑस्ट्रेलियाई नौवहन सुरक्षा प्राधिकरण ने आज की खोज के लिए करीब 49,491 वर्ग किमी भूभाग में तलाशी लेने की योजना बनाई है। इस खोज का केंद्र पर्थ से करीब 1,741 किमी उत्तर पश्चिम में होगा। मौसम विभाग ने खोज क्षेत्र के उत्तर में मौसम ठीक न होने का पूर्वानुमान जताया है क्योंकि उष्णकटिबंधीय चक्रवात जैक दक्षिण की ओर जा रहा है। विभाग के बयान में बारिश होने की संभावना जताई गई है।

जिस जल क्षेत्र में खोज केंद्रित होगी वह भाग 8 अप्रैल को मिले दूसरे ‘टॉवर्ड पिंगर लोकेटर’ की खोज के आसपास 10 किमी की परिधि है।

ब्लैक बॉक्स और मलबे की खोज यह जानने के लिए महत्वपूर्ण है कि कुआलालंपुर से उड़ान भरने के बाद बीजिंग जा रहा विमान अपने रास्ते से क्यों भटक गया और रहस्यमय तरीके से लापता हो गया।

विमान के लापता होने से नागरिक उड्डयन और सुरक्षा अधिकारी परेशान हैं, क्योंकि हाई टेक रडार और अन्य उपकरणों की तैनाती के बावजूद विमान का अब तक कुछ पता नहीं चल पाया है।

इस बीच, कुआलालंपुर में एक मलेशियाई अधिकारी ने कल बताया कि लापता विमान के यात्रियों और चालक दल के सदस्यों के परिजनों को राहत के तौर पर मलेशिया एयरलाइन्स आर्थिक सहायता मुहैया कराएगी।

उप-विदेश मंत्री हमजा जैनुद्दीन ने बताया कि यह सहायता मलेशिया एयरलाइन्स की ओर से होगी और सरकार जरूरत पड़ने पर मदद के लिए आगे आएगी।