ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा, हो सकता है कि कोविड-19 का टीका कभी नहीं मिले

प्रधानमंत्री जॉनसन ने कहा, ‘बड़े पैमाने पर टीका या इलाज में एक साल से अधिक समय बाकी है.’ उन्होंने इसके साथ ही ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और इम्पीरियल कॉलेज लंदन के वैज्ञानिकों द्वारा इलाज खोजने के लिए किए गए काम को रेखांकित किया.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा, हो सकता है कि कोविड-19 का टीका कभी नहीं मिले

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘बड़े पैमाने पर टीका या इलाज में एक साल से अधिक समय बाकी है.’

खास बातें

  • टीका मिलने की संभावना करीब एक साल दूर है
  • हो सकता है कि इसको नियंत्रित करने के लिए कभी टीका मिले ही नहीं
  • ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने दी चेतावनी
लंदन:

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने चेतावनी दी है कि कोरोनावायरस के खिलाफ टीका मिलने की संभावना करीब एक साल दूर है और हो सकता है कि इसको नियंत्रित करने के लिए कभी टीका मिले ही नहीं. ब्रिटेन में कोरोनावायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन को क्रमवार तरीके से हटाने को लेकर 50 पन्नों का नया दिशानिर्देश जारी करते हुए प्रधानमंत्री ने कोविड-19 से सुरक्षा के साथ धीरे-धीरे कारोबार को दोबारा खोलने की योजना पेश की. इसमें अर्थव्यवस्था खुलने पर सामाजिक दूरी कायम रखने और अपने विवेक का इस्तेमाल करने पर जोर दिया गया है. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘बड़े पैमाने पर टीका या इलाज में एक साल से अधिक समय बाकी है.' उन्होंने इसके साथ ही ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और इम्पीरियल कॉलेज लंदन के वैज्ञानिकों द्वारा इलाज खोजने के लिए किए गए काम को रेखांकित किया. उन्होंने कहा, ‘सबसे खराब परिस्थिति में हो सकता है कि हमें कभी टीका मिले ही नहीं. इसलिए हमारी योजना ऐसी परिस्थिति से निपटने की होनी चाहिए ताकि सभी काम करने के साथ संक्रमण के नतीजों से बचा जा सके.'

जॉनसन ने स्वीकार किया कि टीका या दवा आधारित इलाज ही इसका स्थायी समाधान है. उन्होंने कहा कि भरोसेमंद टीका विकसित करने के लिए ब्रिटेन ने अपनी कोशिशें तेज की हैं और ऑक्स्फोर्ड विश्वविद्यालय एवं फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेसा के साथ साझेदारी की है जो कोविड-19 का टीका विकसित होने पर इसके तेजी से उत्पादन में सहायक होगी. वैश्विक कोशिश के तहत उन्होंने टीका, जांच और इलाज विकसित करने के शोध के लिए 38.8 करोड़ पाउंड की व्यवस्था की है जिनमें से 25 करोड़ पाउंड महामारी तैयारी नवोन्मेष गठबंधन के लिए है.

COVID-19 वैक्सीन से जुड़ा डाटा चुराने की कोशिश में चीनी हैकर- अमेरिका का चीन पर बड़ा आरोप

इस हफ्ते से चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन में ढील देने की योजना का खुलासा करते हुए उन्होंने कहा, ‘हालांकि हमें सफलता मिलने की उम्मीद है लेकिन उम्मीदें योजना नहीं होती. टेलीविजन के जरिए रविवार रात को देश को संबोधन और सोमवार को संसद में बयान देने के बाद दिशानिर्देश बुधवार से पूरे इंग्लैंड में लागू होगा और लोगों को घर में साथ रहने के अलावा दूसरे लोगों से मिलने का मौका मिलेगा लेकिन इस दौरान दो मीटर की दूरी बनानी होगी. लॉकडाउन लागू होने के करीब छह हफ्ते बाद ब्रिटेन में लोगों को दोस्तों और परिवार के सदस्यों को बाहर खेलने, मेल-मिलाप करने की अनुमति मिलेगी.

कोरोना वायरस : चीन पर क्यों बार-बार भड़क रहे हैं अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप, क्या ये एक 'प्लान' का हिस्सा है?

दिशानिर्देश में सलाह दी गई है कि अगर संभव हो तो लोग घर से ही काम करें और जरूरत होने पर ही कार्यालय या काम के स्थान पर जाए जैसे निर्माण एवं उत्पादन इकाइयों में और इस दौरान सामाजिक दूरी का अनुपालन करें. चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन में ढील के तहत अगले महीने गैर जरूरी वस्तुओं की दुकानों को भी दोबारा खोलने की अनुमति होगी. वहीं नाइयों की दुकानों, पब और सिनेमा जुलाई से खुलेंगे. हालांकि कोविड-19 के मामले बढ़ने पर संक्षिप्त नोटिस पर पाबंदियों को फिर से लागू किया जा सकता है. दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने पर जुर्माने की राशि बढ़ाकर 100 पाउंड कर दी गई है और बार-बार उल्लंघन करने पर अधिकतम 3200 पाउंड का जुर्माना लग सकता है.

Newsbeep

COVID-19: सिंगापुर में कोरोनावायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 23,336 हुए, 20 लोगों की हुई मौत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्रधानमंत्री ने सामान्य जनजीवन में व्यावधान के बावजूद धैर्य रखने का अनुरोध किया. उन्होंने कहा कि सबसे खराब परिस्थिति यह हो सकती है कि वायरस पर नियंत्रण नहीं हो और इसकी कीमत जान और सख्त पाबंदी से चुकानी हो जिसका असर अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा. हमें सतर्क रहना है, वायरस को नियंत्रित करना है और ऐसा करते हुए लोगों की जान बचानी है. जॉनसन ने कहा, ‘जब टीका और दवा उपलब्ध हो जाएगी तब हम अगले चरण में प्रवेश करेंगे जहां हम जीवन के प्रभावित हुए बिना लंबे समय तक कोविड-19 के साथ रहना सीख जाएंगे.'



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)