NDTV Khabar

संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष ने कहा, फर्जी तस्वीर दिखाने की घटनाओं से निपटने के बारे में सोचेंगे

मलीहा ने गाजा की लड़की की तस्वीर को कश्मीर की पेलेट गन पीड़िता की तस्वीर के रूप में पेश किया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष ने कहा, फर्जी तस्वीर दिखाने की घटनाओं से निपटने के बारे में सोचेंगे

पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. फर्जी तस्वीर को इस्तेमाल करने से रोकने के लिए सुझावों पर विचार करेंगे.
  2. संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष की यह टिप्पणी पाकिस्तान को लेकर थी.
  3. उन्होंने यह भी कहा कि यह कूटनीति का मामला है.
संयुक्त राष्ट्र:

यूएन में पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी ने कश्मीर में ज्यादातियों का ज़िक्र करते हुए पैलेट गन की शिकार एक लड़की की तस्वीर दिखाई. उन्होंने कहा था कि 'ये भारत के लोकतंत्र का चेहरा' है. लेकिन बड़ी-बड़ी बातें करते हुए वह एक बड़ी ग़लती कर गईं. उन्होंने जो तस्वीर दिखाई वो फ़िलिस्तीन की एक पीड़ित लड़की की थी. यानी मलीहा का ये दांव उन पर ही उल्टा पड़ गया. मलीहा ने जिस लड़की की तस्वीर दिखाई वो 17 साल की फिलिस्तीनी लड़की राविया अबू जोमा की है जो 2014 में ग़ाज़ा में इज़राइली बमबारी के दौरान घायल हो गई थी. ये फोटो एक अवॉर्ड विनिंग फोटोग्राफ़र हेइछी लेवाइन ने ली थी.

इस मामले पर संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष  का ताजा बयान सामने आया है.


यह भी पढ़ें : राष्ट्रपति दे रहे थे संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाषण और बेटी वहीं ले रही थी सेल्फी, Video देख लोगों ने की खिंचाई

संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष मिरोस्लाव लजाक ने कहा है कि वह इस वैश्विक मंच को फर्जी तस्वीर के लिये इस्तेमाल करने से रोकने के लिए सुझावों पर निश्चित रूप से विचार करेंगे. आतंकवाद के मुद्दे पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा पाकिस्तान को फटकार लगाए जाने के बाद जवाब देने के अपने अधिकार का इस्तेमाल करते हुए संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थाई प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने शनिवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के मंच पर एक लड़की की तस्वीर दिखाई थी और कहा था कि यह कश्मीर की एक पेलेट गन पीड़िता की तस्वीर है. तस्वीर में लड़की का चेहरा बुरी तरह रक्तरंजित दिख रहा था.

टिप्पणियां

मलीहा ने गाजा की लड़की की तस्वीर को कश्मीर की पेलेट गन पीड़िता की तस्वीर के रूप में पेश किया था. लजाक से पूछा गया कि क्या वैश्विक मंच पर फर्जी तस्वीर दिखाए जाने जैसी घटनाओं को रोकने के लिए वह कोई कदम उठाना चाहेंगे. इस पर उन्होंने कहा, ‘मैं निश्चित तौर पर आपके सुझाव के बारे में विचार करूंगा.’ साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यह कूटनीति का मामला है.

VIDEO :  यूएन में बोलीं सुषमा, हमने डॉक्टर बनाए, पाकिस्तान ने जेहादी​
उन्होंने कहा, 'इसका जवाब मुझे नहीं देना है. यह संबंधित प्रतिनिधियों से जुड़ा है. मैं महासभा के अध्यक्ष के रूप में अपने पद का उपयोग करना चाहता हूं, न कि दुरुपयोग.’ नयी दिल्ली ने सोमवार को कहा था कि पाकिस्तान ने भारत के बारे में झूठ फैलाने के लिए फर्जी तस्वीर दिखाकर संयुक्त राष्ट्र महासभा को गुमराह करने की कोशिश की है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement