NDTV Khabar

भारत-पाकिस्तान राजी हों तो आपसी मतभेद सुलझाने के लिए संयुक्त राष्ट्र का 'गुड ऑफिस' तैयार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस के उपप्रवक्ता फरहान हक ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘जैसा कि आप गुड ऑफिस के बारे में जानते हैं, अगर आपसी रजामंदी हो तो गुड ऑफिस सभी पक्षों के लिए उपलब्ध है,

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत-पाकिस्तान राजी हों तो आपसी मतभेद सुलझाने के लिए संयुक्त राष्ट्र का 'गुड ऑफिस' तैयार

खास बातें

  1. भारत-पाकिस्तान राजी हों तो संयुक्त राष्ट्र कश्मीर मुद्दे पर उपलब्ध
  2. दैनिक प्रेस कांन्फ्रेंस में प्रवक्ता ने कही बात
  3. 'अगर आपसी रजामंदी हो तो गुड ऑफिस सभी पक्षों के लिए उपलब्ध है'
नई दिल्ली:
टिप्पणियां
संयुक्त राष्ट्र ने दोहराया है कि अगर भारत और पाकिस्तान को मंजूर हो तो दोनों देशों को आपसी मतभेद दूर करने के लिए एकसाथ लाने के वास्ते संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस का ‘‘गुड ऑफिस’’ (मतभेद दूर करने के लिए राजनीतिक एंव कूटनीतिक माध्यम) उपलब्ध हो सकता है. गुतारेस के उपप्रवक्ता फरहान हक ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘जैसा कि आप गुड ऑफिस के बारे में जानते हैं, अगर आपसी रजामंदी हो तो गुड ऑफिस सभी पक्षों के लिए उपलब्ध है,प्रवक्ता का यह जवाब उस प्रश्न पर आया था कि भारत पाकिस्तमान के बीच तनाव बढ़ने पर क्या महाचिव अपने गुड ऑफिस का इस्तेमाल कर सकते हैं. 

भारत को मध्यस्थता स्वीकार नहीं होने की स्थिति पर पूछे जाने पर प्रवक्ता ने कहा ‘‘गुड ऑफिस का सिद्धांत ही यही है कि पक्ष खुद ही इसके लिए राजी हों. गौरतलब है कि पिछले सप्ताह गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफेन दुजारिक ने कहा था कि संयुक्त राज्य प्रमुख भारत पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव पर करीबी नजर बनाएं हुए हैं और दक्षिण एशिया के इन पड़ोसी मुल्कों को बातचीत के जरिए शांतिपूर्ण हल तलाशने की जरूरत को दोहराते हैं.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement