संयुक्त राष्ट्र सैन्य समूह को LoC पर सीधे तौर पर कोई गोलीबारी नहीं दिखी

संयुक्त राष्ट्र सैन्य समूह को LoC पर सीधे तौर पर कोई गोलीबारी नहीं दिखी

पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने शुक्रवार सुबह संयुक्त राष्ट्र प्रमुख से भेंट की

संयुक्त राष्ट्र:

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में भारत के लक्षित हमले (सर्जिकल स्ट्राइक) करने के मद्देनजर संयुक्त राष्ट्र प्रमुख बान की मून के प्रवक्ता ने शुक्रवार को कहा कि इन दोनों देशों के बीच संघर्ष विराम की निगरानी की जिम्मेदारी संभाल रहे उसके मिशन को नियंत्रण रेखा पर सीधे तौर पर कोई फायरिंग नजर नहीं आई.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता स्टेफेन दुजार्रिक ने संवाददाताओं से कहा, 'भारत और पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सैन्य निगरानी दल (यूएनएमओजीआईपी) को नई घटनाओं के संबंध में नियंत्रण रेखा के पार से सीधे तौर पर कोई फायरिंग नजर नहीं आई.' उनसे जब इस बात पर स्पष्टीकरण मांगा गया कि भारत ने कहा है कि उसने नियंत्रण रेखा के पार लक्षित हमला किया तो यूएनएमओजीआईपी को कैसे कोई फायरिंग नजर नहीं आई, तब उन्होंने दोहराया कि यूएनएमओजीआईपी को सीधे तौर पर कोई फायरिंग नजर नहीं आई.

उन्होंने कहा, 'वह निश्चित ही इन कल्पित उल्लंघनों की रिपोर्टों से वाकिफ हैं और वे संबंधित अधिकारियों से बात कर रहे हैं.' एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने शुक्रवार सुबह संयुक्त राष्ट्र प्रमुख से भेंट की थी, लेकिन बान का कार्यालय देशों के राजदूतों से अपनी भेंटों के बारे में ब्योरा नहीं देता.

Newsbeep

प्रवक्ता ने कहा कि महासचिव नियंत्रण रेखा की स्थिति पर बहुत गंभीरता से नजर रखे हुए हैं और वह परमाणु संपन्न पड़ोसियों के बीच तनाव कम करने के लिए किसी भी प्रस्ताव का स्वागत करेंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)