अश्वेत की मौत पर अमेरिका में उबाल : ट्रंप की धमकी- अगर हिंसा नहीं रुकी तो भेजेंगे सेना

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश के प्रमुख शहरों में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों को तुरंत रोकने का आह्वान करते हुए कहा कि यदि राज्यों के गवर्नर ने नेशनल गार्ड को लगाने से मना किया तो वह सेना की तैनाती करेंगे.

अश्वेत की मौत पर अमेरिका में उबाल : ट्रंप की धमकी- अगर हिंसा नहीं रुकी तो भेजेंगे सेना

ट्रंप ने अमेरिका में हिंसक प्रदर्शन रोकने के लिए सेना उतारने की धमकी दी

खास बातें

  • ट्रंप ने अमेरिका में हिंसक प्रदर्शन रोकने के लिए सेना उतारने की धमकी दी
  • कई दशकों की सबसे खराब अशांति मानी जा रही है
  • गवर्नरों को नेशनल गार्ड की तैनाती करने की दी सलाह
वॉशिगंटन:

अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की मौत के बाद इंसाफ के लिए अश्वेतों का प्रदर्शन जारी है. पुलिस ने सोमवार को व्हाइट हाउस (White House) के पास प्रदर्शन कर रहे लोगों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस और रबर बुलेट का इस्तेमाल किया. इस बीच, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने हिंसा को रोकने के लिए सेना को तैनात करने की चेतावनी दी है. ट्रंप ने कहा कि अगर राज्यों ने हिंसा रोकने से इनकार किया तो मैं अमेरिकी सेना तैनात करूंगा ताकि लोगों के अधिकारों, संपत्ति और जान की सुरक्षा की जा सके. 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश के प्रमुख शहरों में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों को तुरंत रोकने का आह्वान करते हुए कहा कि राज्यों के गवर्नरों को नेशनल गार्ड की तैनाती करनी चाहिए यदि वे ऐसा करने से मना करते हैं तो वह सेना की तैनाती करेंगे. मेयरों और गवर्नरों को हिंसा पर काबू पाने तक कानून का कड़ाई से पालन करना चाहिए. ट्रंप ने कहा, "यदि कोई शहर या राज्य अमेरिकी नागरिकों की जान और संपत्ति को बचाने के लिए जरूरी कदम उठाने से मना करता है तो मैं अमेरिकी मिलेट्री (सेना) तैनात करूंगा और उनके लिए समस्या का तुरंत समाधान करूंगा. 

फ्लॉयड की मौत के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों की आग अमेरिका के 140 शहरों तक पहुंच गई है, जिसे देश में पिछले कई दशकों में सबसे खराब नागरिक अशांति माना जा रहा है.

जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद शुक्रवार की रात सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारी व्हाइट हाउस के बाहर जमा हो गए थे. प्रदर्शनकारियों के बाहर इकट्ठा होने की खबर मिलते ही व्हाइट हाउस के सुरक्षा अधिकारियों द्वारा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को अंडरग्राउंड बंकर में ले जाया गया था. प्रदर्शनों का दौर रविवार और सोमवार को भी जारी रहा. जिसके बाद व्हाइट हाउस की तरफ से एक वीडियो ट्वीट किया गया जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति की तरफ से कहा गया है कि सड़कों पर जो अराजकता देखी जा रही है उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

गौरतलब है कि अमेरिका में एक अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत और इस घटना के वीडियो वायरल होने के बाद से हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं. मामले में पुलिसकर्मी को बर्खास्त कर उस पर हत्या का मामला दर्ज किया गया है. पहले शांतपूर्ण चल रहा प्रदर्शन देखते ही देखते हिंसक हो गया. अमेरिका के अधिकतर शहरों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति ट्रंप की चेतावनी को नजरअंदाज कर दिया है. इस मामले को लेकर कई जगह झड़पें हुई हैं. 

वीडियो: अमेरिका में बैठकर भारतीय मजदूरों की मदद का रहा है यह शख़्स

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com