NDTV Khabar

ईरान ने अमेरिकी प्रतिबंध को परमाणु समझौते का उल्लंघन बताया

अमेरिकी प्रतिबंधों में ईरान के बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम में शामिल लोगों को दंड देना, हथियार प्रतिबंध लागू करना और ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड पर आतंकवाद संबंधी प्रतिबंध लगाना शामिल है.

4 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
ईरान ने अमेरिकी प्रतिबंध को परमाणु समझौते का उल्लंघन बताया

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 2015 में हुए परमाणु समझौते का उल्लंघन बताया
  2. ईरान ने कहा कि वह अमेरिकी नीतियों में नहीं उलझेगा
  3. ईरान अपनी सशस्त्र सेनाओं में भी सुधार करेगा
तेहरान: ईरान ने एक बार फिर अमेरिकी प्रतिबंध पर विरोध जताया है. ईरान ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हस्ताक्षर के बाद उस पर लगाए गए नए प्रतिबंध विश्व शक्तियों के साथ 2015 में हुए ऐतिहासिक परमाणु समझौते का 'उल्लंघन' है. ईरान के उप विदेश मंत्री और वरिष्ठ परमाणु वार्ताकार अब्बास अरागची ने गुरुवार को कहा कि समझौते का उल्लंघन हुआ है.

यह भी पढ़ें : सीनेट की मंजूरी के बाद रूस और उत्तर कोरिया पर कड़े प्रतिबंध संबंधी विधेयक ट्रंप के पास पहुंचा

अब्बास अरागची ने कहा कि ईरान इन प्रतिबंधों का उचित जवाब देगा. साथ ही अमेरिकी नीतियों में नहीं उलझेगा. अरागची ने कहा कि ईरान ने 16 कदमों की सूची बनाई है जो वह अमेरिका के कदम के खिलाफ उठाएगा. उन्होंने विस्तार से कोई जानकारी नहीं दी है, लेकिन साथ ही कहा कि इन कदमों में ईरान की सशस्त्र सेनाओं में 'सुधार' भी शामिल है.

यह भी पढ़ें : अमेरिका को चेतावनी, ईरानी ने कहा- परमाणु करार तोड़ने पर उसी के मुताबिक जवाब दिया जाएगा

वीडियो देखें :  हिजबुल्लाह पर इजराइल का हमला​





क्या है अमेरिकी प्रतिबंध
अमेरिकी प्रतिबंधों में ईरान के बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम में शामिल लोगों को दंड देना, हथियार प्रतिबंध लागू करना और ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड पर आतंकवाद संबंधी प्रतिबंध लगाना शामिल है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement