IP चोरी में चीन और भारत टॉप पर, अमेरिका ने निकाली ब्लैक लिस्ट

सूची में दूसरे स्थान पर भारत है. यूएसटीआर ने भारत की लंबे समय से चली आ रही आईपी फ्रेमवर्क, पेटेंट से संबंधित सुधारों में कमी, कॉपीराइट, व्यापार रहस्य और प्रवर्तन के साथ कई नई समस्याओं पर जोर दिया है.

IP चोरी में चीन और भारत टॉप पर, अमेरिका ने निकाली ब्लैक लिस्ट

अमेरिका की आईपी चोरी कालीसूची में भारत और चीन भी शामिल

वाशिंगटन:

अमेरिकी सरकार द्वारा बनाई गई आईपी (बौद्धिक संपदा) चोरी और दुनियाभर में पेटेंट उल्लंघन की 'ब्लैक लिस्ट' में चीन लगातार शीर्ष पर है.

इस सूची में अर्जेटीना, चिली और वेनेजुएला जैसे देश भी शामिल हैं.

ठंडी बीयर के शौकीनों पर लगाम, अब दोस्तों के साथ बाहर जाकर नहीं पी सकेंगे शराब

2018 की वार्षिक रिपोर्ट 'स्पेशल 301' के अनुसार, अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि कार्यालय (यूएसटीआर) ने "बौद्धिक संपदा (आईपी) अधिकार का पर्याप्त और प्रभावी तरीके से सुरक्षा नहीं कर पाने वाले या अपने आईपी अधिकारों की सुरक्षा पर भरोसा करने वाले अमेरिकी नवोन्मेषकों और क्रिएटरों को बाजार में आने से रोकने वाले व्यापारिक साझेदारों की पहचान की है."

ईएफई समाचार की रिपोर्ट के अनुसार, इस ब्लैक लिस्ट में जो 11 देश हैं, वे अल्जेरिया, अर्जेटीना, चिली, चीन, भारत, इंडोनेशिया, कुवैत, रूस, सऊदी अरब, यूक्रेन और वेनेजुएला हैं.

Avengers Endgame का क्लाइमैक्स देख लड़की का हुआ बुरा हाल, थिएटर से सीधी पहुंची अस्पताल और...

सूची में दूसरे स्थान पर भारत है. यूएसटीआर ने भारत की लंबे समय से चली आ रही आईपी फ्रेमवर्क, पेटेंट से संबंधित सुधारों में कमी, कॉपीराइट, व्यापार रहस्य और प्रवर्तन के साथ कई नई समस्याओं पर जोर दिया है. दरअसल, ये समस्याएं अधिकार संपन्न अमेरिकियों पर नकारात्मक प्रभाव डाल रही हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: अमेरिका में लिंचिंग का भयानक इतिहास