US Coronavirus: TikTok स्टार के खिलाफ उतरे Cornell के छात्र, इसलिए सस्पेंड करने की उठी है मांग

कोरोनावायरस से फैली महामारी कोविड-19 के बीच अमेरिका में कॉलेज-यूनिवर्सिटी खुलने के साथ ही बहुत सारे शिक्षण संस्थान ऐसे हैं, जो सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने के नियमों का सख्ती से पालन करा रहे हैं.

US Coronavirus: TikTok स्टार के खिलाफ उतरे Cornell के छात्र, इसलिए सस्पेंड करने की उठी है मांग

TikTok स्टार और स्टूडेंट जेसिका झांग के खिलाफ Covid-19 नियमों को लेकर विरोध. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • US में कोरोनावायरस का प्रकोप
  • TikTok स्टार और स्टूडेंट के खिलाफ छात्रों का विरोध
  • Cornell यूनिवर्सिटी के छात्रों ने शुरू किया ऑनलाइन पीटिशन
वॉशिंगटन:

कोरोनावायरस से फैली महामारी कोविड-19 के बीच अमेरिका में कॉलेज-यूनिवर्सिटी खुलने के साथ ही बहुत सारे शिक्षण संस्थान ऐसे हैं, जो सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने के नियमों का सख्ती से पालन करा रहे हैं. बहुत से संस्थानों ने नियम सख्त रखने के लिए जुर्माना लगाने और निलंबित करने जैसे तरीके अपनाए हैं. लेकिन सुप्रसिद्ध Cornell University में कुछ अलग ही हो रहा है. यहां पर बड़ी संख्या में छात्र एक फ्रेशमैन यानी फर्स्ट ईयर स्टूडेंट के खिलाफ उतर गए हैं. यहां की स्टूडेंट और TikTok स्टार जेसिका झांग पर आरोप लगे हैं कि उन्होंने कोविड गाइडलाइंस का उल्लंघन किया है. झांग को यूनिवर्सिटी से निलंबित करने की मांग उठ रही है.

"Concerned Student Coalition" नाम से एक समूह बनाया गया है, जिसने झांग के खिलाफ ऑनलाइन पीटिशन शुरू की है. बुधवार की रात तक ही इस पीटिशन पर 2,000 से ज्यादा छात्रों ने हस्ताक्षर कर दिए हैं. इस पीटिशन में लिखा हुआ है, 'जेसिका झांग ने दिखा दिया है कि उन्हें कोरोनावायरस के चलते हमारी सुरक्षा के लिए लागू किए गए नियमों की कोई परवाह नहीं है और वो अपने मनोरंजन के लिए दूसरे लोगों को खतरे में डाल सकती हैं.' जेसिका झांग के US TikTok पर पांच लाख से भी ज्यादा फॉलोवर्स हैं. इस पीटिशन में झांग को निलंबित करने की मांग रखते हुए कहा गया है कि 'कुछ छात्रों के पास ऐसी सुविधा नहीं है कि वो घर जाकर शांत और स्वस्थ माहौल में पढ़ाई कर सकें. दूसरों के लिए मुश्किलें न खड़ी करें.'

यह भी पढ़ें: Coronavirus के जीनोम डेटा से पता चला, आखिर किस घटना से US में फैली COVID-19 महामारी

दरअसल, झांग पर आरोप है कि उन्होंने यूनिवर्सिटी में कुछ लोगों के साथ पार्टी बुलाई थी. इस पार्टी के कुछ वीडियो सामने आए थे, जिसमें कोई भी छात्र मास्क में नजर नहीं आ रहा था. वहीं, इसके बाद Snapchat पर झांग के कुछ प्राइवेट चैट सामने आए थे, जिसमें उन्होंने लिखा था, 'ये जो स्टूडेंट्स सोशल डिस्टेंसिंग के नियम थोप रहे हैं, उन्हें तो वैसे भी पार्टी में नहीं बुलाना था'. इसके बाद ही झांग पर हमले हो रहे हैं. 

इस घटना से साफ है कि कोरोनावायरस के बीच कॉलेज-यूनिवर्सिटी वापस आ रहे छात्रों ने अपने साथ-साथ दूसरों को सुरक्षित रखने का जिम्मा उठा लिया है. बहुत से छात्रों का कहना है कि उनके लिए यूनिवर्सिटी ज्यादा सुरक्षित है. इस महीने अमेरिका बहुत से स्कूल-कॉलेज खुले हैं, जिसके बाद बड़ी संख्या में छात्रों में कोविड संक्रमण सामने आ गया है. हालांकि, कॉर्नेल यूनिवर्सिटी में फरवरी से अबतक बस 28 केस ही सामने आए हैं.

यह भी पढ़ें: ट्रंप प्रशासन के फैसले को टिकटॉक अमेरिकी अदालत में देगा चुनौती

झांग ने मामला उठने के बाद TikTok पर "Apologies + No More Lies." कैप्शन के साथ एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने माफी मांगी है लेकिन यह भी कहा है कि उनके पोस्ट को बिना किसी संदर्भ के उठाया गया है और इस पूरे मामले को तोड़ा-मरोड़ा गया है. झांग का अपने बचाव में कहना है कि उन्होंने पार्टी टेस्ट में निगेटिव आए कुछ छात्रों के साथ की थी और वो मास्क न पहनने के लिए माफी मांगती हैं.

झांग के निलंबन वाली याचिका पर हस्तातक्षर करने वाली एक छात्रा मिलान ब्रॉटन का कहना है कि 'इस मामले में निलंबन की मांग थोड़ी सख्त है लेकिन मैंने इसपर इसलिए साइन किया है, ताकि यूनिवर्सिटी प्रशासन छात्रों की फिक्र को गंभीरता से ले.'

Video: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क्या कमला हैरिस अमेरिका की उपराष्ट्रपति बन जाएंगी?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com