अमेरिकी इकोनॉमी में तीसरी तिमाही में 33.1% की जोरदार वृद्धि, सरकार ने कहा-यह अब तक की सबसे बड़ी बढ़ोतरी

कोरोना वायरस महामारी के दौरान अप्रैल-जून तिमाही में अमेरिकी अर्थव्यवस्था में 31.4 फीसदी की जबरस्त गिरावट दर्ज की गई थी जबकि पहली तिमाही में इसमें 5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी.

अमेरिकी इकोनॉमी में तीसरी तिमाही में 33.1% की जोरदार वृद्धि, सरकार ने कहा-यह अब तक की सबसे बड़ी बढ़ोतरी

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  • हाल के तीन महीनों के परिणामों का पहला अनुमान है
  • अप्रैल-जून तिमाही में दर्ज हुई थी 31.4 फीसदी की गिरावट
  • पहली तिमाही में 5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई
वॉशिगटन:

रिकॉर्ड स्तर की गिरावट के बाद, अमेरिकी अर्थव्यवस्था (US economy) में अब तक की सबसे मजबूत रिकवरी दर्ज की गई है और यह तीसरी तिमाही (Third quarter) में 33.1 प्रतिशत की दर से बढ़ी है. वाणिज्‍य विभाग (Commerce Department) ने गुरुवार को यह जानकारी दी.कोरोना वायरस महामारी के दौरान अप्रैल-जून तिमाही में अमेरिकी अर्थव्यवस्था में 31.4 फीसदी की जबरस्त गिरावट दर्ज की गई थी जबकि पहली तिमाही में इसमें 5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी. एनुअल रेट यानी वार्ष‍िक दर एक पैमाना है जो एक तिमाही की वृद्धि को अगर 12 महीनों के अनुपात में देखा जाए, तो यह उसे दिखाता है. हालांकि, 2019 की जुलाई-सितंबर की तिमाही से अगर तुलना की जाए तो तीसरी तिमाही में भी 2.9 फीसदी गिरावट ही दर्ज हुई है जबकि दूसरी तिमाही में साल दर साल के हिसाब से 9 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई थी. 

ट्रंप अमेरिकी लोकतंत्र के लिए खतरा, उनके कारण अर्थव्‍यवस्‍था और अमेरिकी खतरे में हैं: सैंडर्स

आंकड़ों के अनुसार, यह हाल के तीन महीनों के परिणामों का पहला अनुमान है. वाणिज्‍य विभाग की विज्ञप्ति में कहा गया है, 'तीसरी तिमाही में दर्ज की गई यह वृद्धि व्‍यापार को खोलने और कोविड-19 के कारण प्रतिबंधित या निलंबित की गतिविधियों को फिर से शुरू करने के लगातार प्रयासों का परिणाम है.' इसमें यह भी कहा गया है कि कोविड-19 के अर्थव्‍यवस्‍था पर हुए पूरे प्रभाव को अलग से नहीं मापा जा सकता. वर्ष 1947 से रिकॉर्ड रखे जाने के बाद सबसे अधिक वृद्धि उपभोक्‍ताओं (consumers) और व्‍यवसायों (businesses) की ओर से खर्च में आए उछाल से दर्ज हुई है. हालांकि अर्थशास्त्रियों ने चेताते हुए कहा है कि अर्थव्‍यवस्‍था में आया यह उछाल सरकार की ओर से दी गई 3 खरब डॉलर की मदद का परिणाम है. बेरोजगार वर्कर्स और व्‍यापारों के लिए यह फंडिंग अब बंद हो गई है. अन्‍य आंकड़े दर्शाते हैं कि सितंबर माह में हल्‍का सुधार देखा गया और रिकवरी में फिर से पूर्व की गति को गंवा दिया है.

Newsbeep

त्योहारों से पहले सरकार ने बाजार की मंदी को दूर करने के लिए उठाया कदम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)