US कोर्ट ने राष्ट्रपति ट्रम्प के दावे को किया खारिज, कहा- जो बाइडेन की जीत पर नहीं लगा सकते रोक!

देशभर की अदालतों में इस मामले में डोनाल्ड ट्रंप के अभियान समूह और रिपब्लिकन समर्थकों को लगभग दो दर्जन बार हार का मुंह देखना पड़ा है, जिन्होंने अलग-अलग अदालतों में चुनाव में धांधली की शिकायतें की थीं. उनमें यह फैसला सबसे नया है.

US कोर्ट ने राष्ट्रपति ट्रम्प के दावे को किया खारिज, कहा- जो बाइडेन की जीत पर नहीं लगा सकते रोक!

US कोर्ट ने तीन नवंबर को हुए राष्ट्रपति चुनावों में डोनाल्ड ट्रम्प के साथ किसी भी तरह की धोखाधड़ी होने के आरोपों को खारिज कर दिया.

वाशिंगटन:

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों (US Presidential Elections) से जुड़े मामले में अमेरिकी संघीय अपील अदालत (US Federal Appeals Court) ने शुक्रवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (President Donald Trump) के उस दावे को सीधे तौर पर खारिज़ कर दिया है, जिसमें उन्होंने पेंसिल्वानिया में चुनाव में धांधली होने की शिकायत की थी. इसके साथ ही कोर्ट ने जो बाइडेन (Joe Biden) की जीत पर रोक लगाने से इनकार कर दिया.

ट्रम्प के चुनाव अभियान समिति की तरफ से दाखिल की गई दलीलों की तीखी समीक्षा में कोर्ट ने तीन नवंबर को हुए राष्ट्रपति चुनावों में डोनाल्ड ट्रम्प के साथ किसी भी तरह की धोखाधड़ी होने के आरोपों को खारिज कर दिया. अपील अदालत के तीन जजों ने सर्वसम्मति से कहा कि धोखाधड़ी और अनुचित कार्यवाही के आरोपों के पक्ष में कोई सबूत नहीं दिए गए. इसलिए दावे को खारिज किया जाता है.

अमेरिका : व्हाइट हाउस छोड़ने के लिए राजी हुए डोनाल्ड ट्रंप, सामने रखी ये शर्त 

कोर्ट ने कहा, "चुनाव में अनुचित और धोखाधड़ी के आरोप गंभीर हैं लेकिन सिर्फ चुनाव को अनुचित कह देने से अनुचित नहीं हो सकता." निचली अदालत के फैसले के खिलाफ अपील करते हुए ट्रम्प के अभियान पक्ष ने अदालती भेदभाव के आरोप लगाते हुए अपील की थी. कोर्ट ने तल्ख टिप्पणी की कि अनुचित आरोप के रस शीशे को सोना नहीं बना सकता.

Newsbeep

जो बाइडेन ने चुने अपने कैबिनेट के शीर्ष अधिकारी, लैटिन अमेरिकन को बनाया इमिग्रेशन का हेड

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


देशभर की अदालतों में इस मामले में डोनाल्ड ट्रंप के अभियान समूह और रिपब्लिकन समर्थकों को लगभग दो दर्जन बार हार का मुंह देखना पड़ा है, जिन्होंने अलग-अलग अदालतों में चुनाव में धांधली की शिकायतें की थीं. उनमें यह फैसला सबसे नया है. ट्रम्प खुद भी जो बाइडेन की जीत को संदेहास्पद बताते रहे हैं. गुरुवार को भी उन्होंने रिपोर्टरों से कहा, "बस आप समझ लीजिए, यह चुनाव एक धोखा था."