चीन ने दी DF-21D और DF-26 मिसाइलों की धमकी, तो अमेरिका की नेवी ने यह बात कहकर उड़ाया मजाक

चीन की ओर से मिसाइलाों को धमकी पर अमेरिका की नेवी ने उसकी मौज ले ली है. दरअरसल दक्षिणी चीन सागर में चीन की सेना (PLA) इस समय एक ड्रिल (अभ्यास) कर रही है. लेकिन उसके किसी भी पैंतरे या छिपे प्लान का जवाब देने के लिए अमेरिका ने भी अपनी नेवी के तीन जहाज इस इलाके में भेज दिए हैं.

चीन ने दी  DF-21D और DF-26 मिसाइलों की धमकी, तो अमेरिका की नेवी ने यह बात कहकर उड़ाया मजाक

अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर में भेजे हैं दो जहाज

नई दिल्ली :

चीन की ओर से मिसाइलाों को धमकी पर अमेरिका की नेवी ने उसकी मौज ले ली है. दरअरसल दक्षिणी चीन सागर में चीन की सेना (PLA) इस समय एक ड्रिल (अभ्यास) कर रही है. लेकिन उसके किसी भी पैंतरे या छिपे प्लान का जवाब देने के लिए अमेरिका ने भी अपनी नेवी के तीन जहाज इस इलाके में भेज दिए हैं. अमेरिकन नेवी की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक यूएसएस निमित्ज और यूएसएस रोनाल्ड रीगन नाम के दो समुद्री जहाजों को इस इलाके में भेजा गया है.  इनमें से निमित्ज पोत से फाइटर प्लेन उड़ान भर सकते हैं जबकि रोनाल्ड रीगन परमाणु बम से लैस समुद्री पोत है. पहले तो चीन पीएम मोदी के लद्दाख दौरे से बौखलाया हुआ था और अब यूएस नेवी के इस बेड़े को आसपास देखकर उसके होश उड़ गए हैं. लेकिन पुरानी आदत की तरह उसने अमेरिका को भी धमकाने की कोशिश की तो यूएस नेवी ने उसका मजाक उड़ा डाला और कहा कि हम फिर भी यहां मौजूद हैं. 

दरअसल चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स के ट्विटर पर लिखा गया कि चीन के पास एंटी एयरक्राफ्ट हथियार, जैसे कि DF-21D और DF-26, एयरक्राफ्ट करियर किलर मिसाइल हैं. दक्षिणी चीन सागर पूरी तरह से पीएलए (PLA) के नियंत्रण में है. इस इलाके में अमेरिकन सेना के एयरक्राफ्ट करियर के किसी भी तरह की गतिविधि पीएलए के लिए दिल बहलाने से ज्यादा कुछ भी नही हैं. आपको बता दें कि यह बात ग्लोबल टाइम्स में एक एक्सपर्ट के बयान के हवाले से लिखा गया है.

लेकिन इस बार खास बात ये है कि चीन की ओर से आई धमकी का अमेरिकन नेवी की ओर से इस ट्वीट को रिट्वीट करते हुए दिया गया है.  अमेरिकन नेवी ने जवाब दिया, ' और फिर भी वे (यूएस नेवी के जहाज) वही हैं. एयरक्राफ्ट करियअर्स, दक्षिणी चीन सागर के अंतरराष्ट्रीय सीमा में घूम रहे हैं. हमारे हिसाब से यूएएस निमित्ज और यूएसएस रोनाल्ड रीगन को धमकाया नहीं जाता है'. 

Newsbeep

दरअसल ऐसी बातें चीन की गीदड़ भभकियां की तरह होती हैं जिनका इस्तेमाल वह दबाव बनाने के लिए करता है. लेकिन चीन की इन धमकियों का अब किसी के ऊपर कोई असर नहीं हो रहा है. इससे पहले  अमेरिका ने चीन को चेतावनी दी है कि अगर उसने हांगकांग को 'निगलने' की कोशिश की तो चुप नहीं बैठेगा.  चीन ने कभी ब्रिटेन का क्षेत्र रहे हांगकांग में बेहद सख्त राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू किया है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बेहद सख्त लहजे वाले एक बयान में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि यह हांगकांग के लोगों के लिये दुखद दिन है और चीन को नए प्रतिरोधी उपायों को लेकर चेतावनी भी दी जिनमें क्षेत्र को रक्षा और दोहरे इस्तेमाल वाली प्रौद्योगिकी के निर्यात को खत्म किया जाना शामिल है.  हांगकांग में मंगलवार को अमल में आया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून स्थानीय और चीनी अधिकारियों की जांच, अभियोजन और असंतुष्टों को सजा देने की शक्तियों में नाटकीय रूप से बढ़ोतरी करता है. (इनपुट भाषा से भी)