अमेरिका ने पेरिस समझौते से हटने की औपचारिक जानकारी संयुक्त राष्ट्र को दी

इस समझौते की शर्तों के अनुसार, अमेरिका 4 नवंबर 2020 तक इस समझौते से पूरी तरह अलग नहीं हो सकता. वह दिन अमेरिका में अगले राष्ट्रपति चुनाव का अगला दिन होगा.

अमेरिका ने पेरिस समझौते से हटने की औपचारिक जानकारी संयुक्त राष्ट्र को दी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी घोषणापत्र में शामिल था यह मुद्दा
  • अमेरिका 2020 तक पेरिस समझौते से पूरी तरह अलग नहीं हो सकता
  • अमेरिका के अगले राष्ट्रपति चाहें तो इस समझौते का बन सकते हैं हिस्सा
वाशिंगटन:

अमेरिका ने वर्ष 2015 में हुए ऐतिहासिक पेरिस जलवायु समझौते से जल्दी से जल्दी हटने के अपने फैसले की औपचारिक जानकारी संयुक्त राष्ट्र को दे दी है. यह खबर विदेश मंत्रालय ने दी है. अमेरिका की ओर से संयुक्त राष्ट्र को दी गई यह जानकारी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से हाल ही में की गई उस फैसले की घोषणा के अनुरूप है, जो उनके चुनावी वादों में से एक था.

यह भी पढ़ें : अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने दिए संकेत, पेरिस समझौते पर बदल सकते हैं राय

गौरतलब है कि इस समझौते की शर्तों के अनुसार, अमेरिका चार नवंबर 2020 तक इस समझौते से पूरी तरह अलग नहीं हो सकता. वह दिन अमेरिका में अगले राष्ट्रपति चुनाव का अगला दिन होगा. इसका अर्थ यह है कि अगले अमेरिकी राष्ट्रपति इस समझौते में दोबारा शामिल हो सकते हैं. पेरिस समझौते का उद्देश्य धरती को औद्योगिक काल की शुरुआत के तापमान से दो डिग्री अधिक गर्म होने से बचाना है. 

यह भी पढ़ें : पेरिस समझौते से हटने पर डोनाल्ड ट्रंप पर बरसे जॉन केरी

वीडियो देखें ः मोरक्को में चल रहा जलवायु परिवर्तन सम्मेलन समाप्त

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

विदेश मंत्रालय ने दी जानकारी
विदेश मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र को एक पत्र सौंप दिया है. यह पत्र पेरिस समझौते से जल्द से जल्द अलग होने के अमेरिका के इरादे के बारे में है. 
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)