NDTV Khabar

अमेरिका ईरानी शासन को बेदखल करना चाह रहा है : तेहरान

ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ ने रविवार को कहा कि अमेरिका द्वारा ईरान एक्शन ग्रुप (आईएजी) बनाने का मकसद इस्लामिक शासन को खत्म करना है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमेरिका ईरानी शासन को बेदखल करना चाह रहा है : तेहरान

ईरान ने कहा है कि अमेरिका द्वारा आईएजी बनाने का मकसद इस्लामिक शासन को खत्म करना है.

तेहरान: ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ ने रविवार को कहा कि अमेरिका द्वारा ईरान एक्शन ग्रुप (आईएजी) बनाने का मकसद इस्लामिक शासन को खत्म करना है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, जरीफ ने ट्वीट किया, "अमेरिका ने 65 साल पहले मोसद्देक की निर्वाचित लोकप्रिय लोकतांत्रिक सरकार को गिरा कर तानाशाही बहाल कर दी थी और अगले 25 वर्षों तक ईरानियों को अपने मातहत कर लिया था". उन्होंने कहा, "अब दबाव, गलत सूचना और भड़काऊ बयान के माध्यम से 'एक्शन ग्रुप' के सहारे फिर से वही करने का सपना देखा जा रहा है. अब यह नहीं होगा."

ईरान के राष्ट्रपति रुहानी बोले- इस्लामिक देश के खिलाफ ‘मनौवैज्ञानिक युद्ध’ छेड़ रहा है अमेरिका 

अमेरिकी विदेश विभाग ने गुरुवार को आईएजी के गठन की घोषणा की थी ताकि प्रशासन ईरान रणनीति को लागू कर सके और देश पर अपने रवैये को बदलने के लिए दबाव बना सके.विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि ईरान ने लगभग 40 वर्षों से अमेरिका और उसके सहयोगियों के खिलाफ हिंसक और अस्थिर रवैया अपनाया हुआ है। उन्होंने कहा, "हम ईरानी शासन के व्यवहार को बदलने के लिए प्रतिबद्ध हैं". ईरान ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है और क्षेत्र में अस्थिरता के लिए वाशिंगटन को जिम्मेदार ठहराया है. 

टिप्पणियां
ईरानी राष्ट्रपति रूहानी से मुलाकात को तैयार हैं डोनाल्ड ट्रंप

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement