NDTV Khabar

कहां से आया पृथ्वी पर पानी? एमआईटी के शोध में बताई गई यह बात

एक नये अध्ययन के अनुसार ऐसा संभव है कि सौरमंडल की उत्पत्ति के बाद पहले 20 लाख वर्षों में पृथ्वी पर पानी उल्कापिंड लेकर आए हों.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कहां से आया पृथ्वी पर पानी? एमआईटी के शोध में बताई गई यह बात

प्रतीकात्मक फोटो

खास बातें

  1. पृथ्वी पर पानी संभवत: उल्कापिंड लेकर आए: अध्ययन
  2. एमआईटी के शोध में बताई गई यह बात
  3. 'उल्कापिंडों में पृथ्वी के मौजूदा जल भंडार का 20 प्रतिशत हिस्सा था'
बोस्टन: एक नये अध्ययन के अनुसार ऐसा संभव है कि सौरमंडल की उत्पत्ति के बाद पहले 20 लाख वर्षों में पृथ्वी पर पानी उल्कापिंड लेकर आए हों. चूंकि पानी और कार्बन जैसे तत्व पृथ्वीर पर जीवन के लिए जरूरी अवयय हैं, शोधकर्ता यह जानना चाहते हैं कि वे हमारी पृथ्वी पर कब आए. मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) के शोध छात्र एडम साराफियां ने कहा, ‘‘हम जितने संभव हों उतने उल्कापिंडों के मूल स्वरूप की जांच कर रहे हैं ताकि यह पता कर सकें कि वे शुरूआती सौरमंडल में कहां थे और उनके पास कितना पानी था.’’ 

यह भी पढ़ें: शनि के चंद्रमा 'टाइटन' पर दिखीं पृथ्वी जैसी खासियतें, नए डाटा से हुआ खुलासा

टिप्पणियां
शोध दल को पता चला कि मूल उल्कापिंडों में संभवत: पृथ्वी के मौजूदा जल भंडार का 20 प्रतिशत हिस्सा था. साराफियां ने कहा, ‘‘यह मानना आसान है कि पृथ्वी के पूरी तरह से जन्म लेने से पहले से ही पानी बहुत शुरुआत में ही जमा होना शुरू हो गया.’’ 

VIDEO:  दिल्ली में अब पानी महंगा होगा
उन्होंने कहा, ‘‘इसका मतलब है कि जब पृथ्वी इतनी ठंडी हो गयी कि वहां सतह पर पानी स्थिर रह सके, वहां पहले से ही पानी था.’’


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
 Share
(यह भी पढ़ें)... ब्‍लॉग : अनिल मानहानि अंबानी की जय हो...

Advertisement