NDTV Khabar

किम जोंग के बर्थडे से 2 दिन पहले उत्तर कोरिया ने किया हाइड्रोजन बम का परीक्षण

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
किम जोंग के बर्थडे से 2 दिन पहले उत्तर कोरिया ने किया हाइड्रोजन बम का परीक्षण

उत्तर कोरिया की एक हथियार इकाई का निरीक्षण करते किम जोंग उन (फोटो : AFP)

सियोल: उत्तर कोरिया ने बुधवार को कहा कि उसने हाइड्रोजन बम का ‘सफल’ परीक्षण किया है। गौरतलब है कि इससे पहले अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे ने उत्तर कोरिया में परमाणु परीक्षण स्थल के निकट 5.1 तीव्रता का भूकंप दर्ज किए जाने की बात कही थी, जिससे इन आशंकाओं को बल मिला था कि प्योंगयांग ने संभवत: एक ताजा परमाणु विस्फोट किया है।

इस बीच उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण किए जाने की इसकी पुष्टि कर दी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह हाइड्रोजन बम का परीक्षण था, जिसके बाद आसपास के इलाकों में भूकंप के झटके महसूस किए गए। खबर के अनुसार अचानक किए गए इस परीक्षण के आदेश उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन ने व्यक्तिगत रूप से दिेए थे। यह परीक्षण उनके जन्मदिन से दो दिन पहले किया गया है।

----- ----- ----- ----- ----- ----- ----- ----- -----
यह भी पढ़ें : जानिए, क्यों एटम बम के मुकाबले कहीं ज़्यादा खतरनाक है हाइड्रोजन बम...
----- ----- ----- ----- ----- ----- ----- ----- -----


हम एडवांस परमाणु क्षमता वाले देशों में हुए शामिल
नॉर्थ कोरिया के स्टेट टेलीविजन के मुताबिक, 'रिपब्लिक के पहले हाइड्रोजन बम का परीक्षण बुधवार सुबह 10 बजे (स्थानीय समय के मुताबिक) किया गया।' टेलीविजन ने आगे कहा, "इस ऐतिहासिक हाइड्रोजन बम के परीक्षण में पूर्ण सफलता हासिल करने के साथ ही हम एडवांस परमाणु क्षमता वाले देशों की श्रेणी में पहुंच गए हैं।'

चीन, जापान, द. कोरिया ने  जताई थी परीक्षण की आशंका
अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार इस भूकंप का केंद्र किलजू शहर के पश्मिोत्तर में करीब 50 किलोमीटर दूर देश के पूर्वोत्तर में था। यानी इसका केंद्र पुंगये-री परमाणु परीक्षण स्थल के निकट था। वहीं, भूकंप आने के बाद चीन, जापान और दक्षिण कोरिया ने आशंका जताई थी कि उत्तर कोरिया में बुधवार को दर्ज किया गया भूकंप परमाणु परीक्षण का नतीजा हो सकता है। उनका कहना था कि इस तरह के संकेत हैं कि भूकंप की वजह प्राकृतिक नहीं है।

जोंग ने दिया था संकेत
किम जोंग ने पिछले महीने अपने एक निरीक्षण दौरे में जो बयान दिए थे उनसे यह संकेत मिला था कि प्योंगयांग ने पहले ही एक हाइड्रोजन बम विकसित कर लिया है। हालांकि उनके इस दावे को अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ संदेह की दृष्टि से देख रहे थे।

जापान ने की निंदा
जापान ने इसकी निंदा करते हुए कहा कि ये संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव का उल्लंघन है। इससे पहले जापान सरकार के शीर्ष प्रवक्ता और चीफ कैबिनेट सेकेट्ररी योशिहिदे सुगा ने कहा था कि अतीत के मामलों को देखते हुए इस बात की आशंका है कि यह उत्तर कोरिया द्वारा किया गया परमाणु परीक्षण हो सकता है। उन्होंने यह भी कहा था कि टोक्यो हालात का विश्लेषण कर रहा है। दक्षिण कोरिया की मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वहां के मंत्रियों ने एक आपात बैठक बुलाई है।
 
यह होता है हाइड्रोजन बम
हाइड्रोजन या थर्मोन्यूक्लियर बम में चेन रिएक्शन के द्वारा फ्यूजन होता है,जो न्यूक्लियर बम के मुकाबले कई गुना ज्यादा शक्तिशाली होता है। उत्तर कोरिया 2006, 2009 और 2013 में न्यूक्लियर बम का परीक्षण कर चुका है।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement