व्‍हाइट हाउस ने भारत के राष्‍ट्रपति और पीएम नरेंद्र मोदी के अकाउंट को पहले 'फॉलो' फिर 'अनफॉलो' करने की बताई वजह..

फरवरी के अंतिम हफ्ते में राष्ट्रपति ट्रंप की भारत यात्रा के दौरान, व्हाइट हाउस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंदप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पीएमओ, इंडियन एंबेसी इन यूएस, द यूएस एंबेसी इन इंडिया और भारत में अमेरिका के राजदूत केन जस्‍टर के अकाउंट्स को फॉलो करना शुरू किया था

व्‍हाइट हाउस ने भारत के राष्‍ट्रपति और पीएम नरेंद्र मोदी के अकाउंट को पहले 'फॉलो' फिर 'अनफॉलो' करने की बताई वजह..

इस हफ्ते की शुरुआत में व्हाइट हाउस ने छह ट्विटर हैंडल को "अनफॉलो" कर दिया था

वॉशिंगटन:

व्हाइट हाउस (White House) ने स्‍पष्‍ट किया है कि उसका ट्विटर हैंडल आमतौर पर अमेरिका राष्ट्रपति की यात्रा के दौरान ही मेजबान देशों के ऑफिशियल्‍स के अकाउंट को कुछ समय के लिए फॉलो करता है और ऐसा इन ऑफिशियल्‍स की ओर से यात्रा के समर्थन में किए जाने वाले संदेशों (Messages) को रीट्वीट करने के लिए किया जाता है. इसी साल फरवरी माह के अंतिम हफ्ते में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा (President Donald Trump's visit to India) के दौरान, व्हाइट हाउस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल - @WhiteHouse - ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind), प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), पीएमओ, इंडियन एंबेसी इन यूएस, द यूएस एंबेसी इन इंडिया और भारत में अमेरिका के राजदूत केन जस्‍टर के अकाउंट्स को फॉलो करना शुरू किया था. इस हफ्ते की शुरुआत में, व्हाइट हाउस ने इन सभी छह ट्विटर हैंडल को "अनफॉलो" कर दिया.

एक वरिष्‍ठ प्रशासनिक अधिकारी ने नाम गोपनीय रखे जाने की शर्त पर बताया,  "व्हाइट हाउस ट्विटर अकाउंट सामान्‍यत: अमेरिकी सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के ट्विटर अकाउंट और अन्य उपयुक्त लोगों को फॉलो करता है. उदाहरण के लिए, राष्ट्रपति की यात्रा के समय अकाउंट आमतौर पर थोड़े समय के लिए मेजबान देश के ऑफिशियल्‍स का यात्रा के सपोर्ट में उनके मैसेजेज को रीट्वीट करने के लिए फॉलो करता है. इस अधिकारी ने व्हाइट हाउस की ओर से राष्ट्रपति कोविंद, पीएम मोदी, पीएमओ और अन्य भारतीय अधिकारियों के ट्विटर हैंडल को पहले 'फॉलो' और फिर 'अनफॉलो' करने के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में यह बात कही. व्‍हाइटक हाउस की ओर से राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी के ट्विटर अकाउंटों को 'अनफॉलो' करने की भारत में सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रिया हुई थी.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने कहा कि वह इससे "निराश" हैं. उन्होंने बुधवार को एक ट्वीट में कहा, "मैं व्हाइट हाउस द्वारा हमारे राष्ट्रपति और पीएम को "अनफॉलो" किए जाने से निराश हूं. मैं विदेश मंत्रालय से इसे ध्‍यान में रखने का आग्रह करता हूं." बुधवार तक, व्हाइट हाउस के 22 मिलियन यानी दो करोड़ 20 लाख फॉलोअर थे. यह परंपरागत तौर पर 13 अकाउंट् को फॉलो कर रहा था जिसमें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनका आधिकारिक ट्विटर हैंडल, द फर्स्‍ट लेडी, वाइस प्रेसीडेंट, द सेकेंड लेडी, नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल आदि शामिल हैं.

VIDEO: राहुल ने वित्त मंत्री को बनाया था निशाना, ट्वीट कर निर्मला सीतारमण ने घेरा



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com