यह ख़बर 18 अगस्त, 2014 को प्रकाशित हुई थी

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे ने कहा, जल्द छोडूंगा इक्वाडोर

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे ने कहा, जल्द छोडूंगा इक्वाडोर

असांजे का फाइल फोटो (सौजन्य - एएफपी)

लंदन:

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे ने कहा है कि वह जल्द ही इक्वाडोर के लंदन स्थित दूतावास को छोड़ देंगे। इस संबंध में असांजे ने ज्यादा जानकारी नहीं दी है।

उल्लेखनीय है कि असांजे जून 2012 से गिरफ्तारी से बचने के लिए इक्वाडोर के दूतावास में शरण लिए हुए हैं। वहीं, इक्वाडोर का कहना है कि वह जूलियन असांजे को सुरक्षा देता रहेगा।

43 वर्षीय असांजे ने अमेरिका में कूटनीतिक और सैना से जुड़े लाखों गोपनीय दस्तावेज सार्वजनिक कर किए थे।

बताया जा रहा है कि करीब दो सालों से इक्वाडोर की एम्बैसी में सीमित असांजे की तबीयत खराब हो गई  है। एक यौन उत्पीड़न के मामले में ब्रिटेन असांजे को गिरफ्तार कर स्वीडन को सौंपना चाहता था जिससे बचने के लिए असांजे ने इक्वाडोर में शरण ली थी।

वहीं, असांजे को भय है कि स्वीडन उन्हें गिरफ्तार करने के बाद अमेरिका को सौंप देगा जहां उन्हें गोपनीय दस्तावेज सार्वजनिक करने के लिए 35 वर्ष कैद की सजा मिल सकती है।

एक अखबार की रिपोर्ट के अनुसार एक ब्रिटेन ने एक मैट्रोपोलिटन मैजिस्ट्रेट को इक्वाडोर के दूतावास के बाहर तैनात कर रखा है जो इस बात की निगरानी कर रहा है कि असांजे दूतावास ने बाहर न निकल पाएं और गिरफ्तारी ने न बच पाएं।

 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com