यह ख़बर 06 फ़रवरी, 2014 को प्रकाशित हुई थी

रवांडा : एड्स के डर से पति की हत्या

रवांडा : एड्स के डर से पति की हत्या

किगाली:

रवांडा की एक महिला ने हाल में पति को इसलिए मौत के घाट उतार दिया, क्योंकि वह अपनी उस विधवा भाभी को घर ले आया, जिसके पति की मौत की वजह लाइलाज एड्स माना जा रहा था। यह जानकारी बुधवार को मीडिया रिपोर्ट में दी गई।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपट के मुताबिक, घटना दक्षिणी रवांडा स्थित गिसागारा जिले में हुई। अधेड़ महिला एनोंसियाता कैंपोरोरो ने पति एनास्लेट माज्यांबर (48) द्वारा विधवा भाभी को सहारा देने के चलते उसकी हत्या की साजिश रची।

स्थानीय भाषा के दैनिक समाचारपत्र उमरयांगो ने ग्रामीणों और पुलिस के हवाले से पुष्टि की कि महिला ने पति के भाभी को घर में रखने की योजना का पुरजोर विरोध किया। महिला को डर था कि विधवा भी एचआईवी संक्रमित होगी।

जब जिद्दी पति पूरे रीति-रिवाज के साथ भाभी को घर ले आया तो पत्नी ने वैवाहिक संबंधों में रहने से इनकार किया। यही नहीं उसने पहले एचआईवी टेस्ट कराने की मांग की। पति ने इससे साफ इंकार कर दिया। परिणामस्वरूप उनकी गृहिस्थी में लगातार कहासुनी और झगड़े हुए।

Newsbeep

परेशान एवं सशंकित पत्नी ने एचआईवी संक्रमण से स्वयं को बचाने के लिए अपने बेटे और बहन संग मिलकर पति की हत्या की साजिश रची। उसने उनकी मदद से पति को मौत के घाट उतार दिया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रवांडा स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, मध्य अफ्रीकी देश में असुरक्षित यौन संबंध और एक से अधिक साथी से यौन संबंध रखना एड्स की प्रमुख वजह है। यहां करीब 300,000 लोग एचआईवी के साथ जी रहे हैं।