योशिहिदे सुगा जापान के नए प्रधानमंत्री बनने की राह पर, शिंज़ो आबे दे रहे हैं इस्तीफा

जापान की सत्तारूढ़ पार्टी लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी ने सोमवार को आबे की सरकार में मुख्य कैबिनेट सचिव का पद देख रहे योशिहिदे सुगा को देश का अगला प्रधानमंत्री बनाया है, इससे अब यह पूरी तरह से आधिकारिक हो गया है कि सुगा, आबे की जगह ले रहे हैं.

योशिहिदे सुगा जापान के नए प्रधानमंत्री बनने की राह पर, शिंज़ो आबे दे रहे हैं इस्तीफा

योशिहिदे सुगा से आबे की नीतियां बनाए रखने की अपेक्षा की जा रही है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • योशिहिदे सुगा होंगे जापान के अगले प्रधानमंत्री
  • सत्तारूढ़ LDP के मुख्य नेता चुने गए
  • संसदीय चुनाव के बाद बन जाएंगे प्रधानमंत्री
टोक्यो:

जापान के प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे (Shinzo Abe) अपनी गिरती सेहत के चलते इस्तीफा दे रहे हैं. जापान की सत्तारूढ़ पार्टी लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी ने सोमवार को आबे की सरकार में मुख्य कैबिनेट सचिव का पद देख रहे योशिहिदे सुगा (Yoshihide Suga) को अपना नेता बनाया है. इससे अब यह पूरी तरह से आधिकारिक हो गया है कि सुगा, आबे की जगह ले रहे हैं. सोमवार को लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी और क्षेत्रीय प्रतिनिधियों के बीच हुए चुनाव में सुगा को बहुत आसान जीत मिल गई. उन्हें 534 में से कुल 377 वैध वोट मिले. उनके खिलाफ खड़े पूर्व रक्षा मंत्री शिगेरु इशीबा और एलडीपी के ही पॉलिसी चीफ फूमियो किशीदा उनके मुकाबले काफी पीछे रहे.

एलडीपी को विधायकों से मिले बहुमत के बाद अब बुधवार को इसपर संसदीय वोट लिया जाना है, जिसमें संभावना है कि सुगा को जीत मिलेगी, जिसके बाद वो जापान के नए प्रधानमंत्री बन जाएंगे. 

71 साल के योशिहिदे सुगा आबे सरकार के शक्तिशाली सलाहकार और प्रवक्ता रहे हैं और उनको आबे की ही नीतियों को आगे ले जाने और स्थिरता बनाए रखने वाला उम्मीदवार माना जा रहा है. उन्होंने अपने नॉमिनेशन में भी यह बात दोहराई थी. उन्होंने यह भी कहा था कि 'कोरोनावायरस के इस संकट के बीच हम देश में इतना बड़ा राजनीतिक खालीपन नहीं रहने दे सकते. इस संकट से देश को निकालने और जापानी लोगों को सुरक्षा की भावना देने के लिए हमें प्रधानमंत्री आबे के कामों को आगे बढ़ाते रहना होगा. यह मेरा मिशन है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उनकी उम्मीदवारी को जापान में स्थिरता का प्रतीक माना जा रहा है, ऐसे में नॉमिनेशन के पहले ही उनको अहम राजनीतिक हलकों से समर्थन मिल गया था. 

बता दें कि शिंज़ो आबे ने अगस्त के अंत में घोषणा की थी कि वो अपने पद से इस्तीफा दे देंगे. उनको ulcerative colitis की समस्या है, जिससे कि अब उनका पद पर बने रहना मुश्किल होता जा रहा है. अभी उनके कार्यकाल में एक साल बचे थे. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)