NDTV Khabar

Wrestling: टोक्‍यो ओल‍िंप‍िक के ल‍िए ट्रायल्‍स में गैरमौजूदगी के बावजूद चर्चा का केंद्र रहे सुशील कुमार..

Sushil Kumar: इस बार टोक्यो ओलिंपिक के ल‍िए ट्रायल्स (Selection Trials) में सुशील कुमार चोट की वजह से नहीं आए तो कुश्ती सर्किट में इसे लेकर काफी चर्चा होती रही.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Wrestling: टोक्‍यो ओल‍िंप‍िक के ल‍िए ट्रायल्‍स में गैरमौजूदगी के बावजूद चर्चा का केंद्र रहे सुशील कुमार..

Sushil Kumar ने इंजुरी के कारण सुशील ने स‍िलेक्‍शन ट्रायल्‍स से नाम वापस ले ल‍िया है

खास बातें

  1. इंजुरी के कारण ट्रायल्‍स से हट गए हैं सुशील
  2. कुश्‍ती संघ ने उन्‍होंने कुछ राहत दी लेक‍िन शर्त के साथ
  3. कुश्‍ती संघ अध्‍यक्ष बोले, टोक्‍यो में रेसलर कम से कम चार मेडल जीतेंगे
नई द‍िल्‍ली:

Sushil Kumar: चार साल पहले 2016 के रियो ओलिंपिक के दौरान डबल ओलिंपिक विजेता सुशील कुमार (Sushil Kumar) ट्रायल्स को लेकर विवादों में आ गए थे. इस बार टोक्यो ओलिंपिक के ल‍िए ट्रायल्स (Selection Trials) में सुशील कुमार चोट की वजह से नहीं आए तो कुश्ती सर्किट में इसे लेकर काफी चर्चा होती रही. भारतीय कुश्ती संघ ने इस बार सुशील को थोड़ी राहत जरूर दी है लेकिन एक शर्त के साथ. टोक्यो ओलिंपिक के लिए पुरुष कुश्ती के ट्रायल्स दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में आयोजित किए गए, ज‍िसमें बजरंग पूनिया (65 KG) और सुशील कुमार (74 KG) के अलावा सभी दिग्गज पहलवानों ने हिस्सा लिया. सुशील ने इंजुरी के कारण स‍िलेक्‍शन ट्रायल्‍स से नाम वापस ले ल‍िया है.प्रतियोगिता में वर्ल्ड चैंपियनशिप के पदक विजेता दीपक पूनिया (86 KG) और रवि दहिया (57 कि.ग्रा.) के अलावा सत्यव्रत कादियान (97 KG), सुमित मलिक (125 KG) और जितेंद्र कुमार (74 KG) जैसे पहलवानों ने अपने-अपने वर्ग में जीत हासिल की.

World Championship: सुशील कुमार को म‍िली न‍िराशा, पहले ही राउंड में हारे


सुशील कुमार ट्रायल्स के लिए स्टेडियम नहीं आए तो पत्रकार सवाल करते रहे कि उन्हें लेकर कुश्ती संघ इस बार क्या सोच रहा है? भारतीय कुश्ती संघ (WFI) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि अगर 74 कि. ग्रा. वर्ग में ओलिंपिक क्वालिफ़ायर ट्रायल्स के विजेता जितेंद्र का प्रदर्शन एशियन चैंपियनशिप या रैंकिंग टूर्नामेंट में अच्छा रहा तो फिर सुशील को मौक़ा नहीं मिल पाएगा. लेकिन अगर उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा तो इस वर्ग में फिर से ट्रायल्स हो सकते हैं. 74 किलोग्राम वर्ग में जितेंद्र कुमार ने फ़ाइनल में अमित धनकड़ को 5-2 से हराकर जीत हासिल की. ट्रायल्स के दौरान बजरंग पूनिया के कोच शैको बेन्टिनाइडिस भी मौजूद रहे. शैको ने 74 किलोग्राम वर्ग में  गौरव बालियान और जितेंद्र कुमार की खूब तारीफ़ की. उन्होंने बताया कि बजरंग इन दिनों टर्की में ट्रेनिंग कर रहे हैं और हफ़्ते भर बाद वे बजरंग के साथ जुड़ जाएंगे और उनकी ट्रेनिंग में मदद करेंगे. उन्होंने बजरंग से ओलिंपिक में पोडियम पर पहुंचने की उम्मीद जताई.

टिप्पणियां

कुश्ती की रैंकिंग सीरीज प्रतियोगिता इटली में (15-18 जनवरी), एशियन चैंपियनशिप्स दिल्ली में फ़रवरी (18-23) और एशियन ओलिंपिक क्वालिफ़ायर चीन के ज़ियान में (मार्च 27-29) में आयोजित होंगी. ओल‍िंप‍िक गेम्‍स 24 जुलाई से 9 अगस्त के बीच टोक्यो में आयोजित होंगे. कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने दावा किया, "इस बार कुश्ती से कम से कम चार पदक ज़रूर जीतेंगे."

वीडियो: महिलाओं का दंगल, वाराणसी के घाट पर हुई कुश्‍ती



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... राजगढ़ के थप्पड़ कांड को लेकर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार और कलेक्टर से जवाब मांगा

Advertisement