23 साल की लड़की ने डोनेट किया प्लाजमा, शेयर किया एक्सपीरियंस

पूरे देश में कोरोनावायरस का कहर जारी वहीं दूसरी तरफ एक 23 साल की स्मृति ठक्कर ने अपना प्लाजमा डोनेट कर के समाज में एक नया उदाहरण पेश किया है.

पूरे देश में कोरोनावायरस का कहर जारी है वहीं दूसरी तरफ एक 23 साल की स्मृति ठक्कर ने अपना प्लाज्मा डोनेट कर समाज में एक नया उदाहरण पेश किया है. स्मृति ठक्कर ने एनडीटीवी (NDTV) से खास बातचीत में बताया कि वह पेरिस (Paris) से अहमदाबाद लौटी, तभी कुछ दिन के बाद उनकी तबीयत खराब होने लगी. ऐसे में बिना समय गंवाए उन्होंने सीधा डॉक्टर के पास जाना बेहतर समझा. डॉक्टर ने सारे टेस्ट किये और शुरुआती जांच के बाद उनका टेस्ट कोरोनावायरस पॉजिटिव आया. उसके बाद स्मृति हॉस्पिटल में एडमिट हो गई. वहीं दूसरी तरफ स्मृति की पूरी फैमिली को क्वारंटान किया गया. फिलहाल स्मृति पूरी तरह से ठीक हैं और वह अपना अनुभव शेयर करते हुए बताती हैं कि हॉस्पिटल में 14 दिन रहने के बाद मुझे छुट्टी मिली और मैं घर आ गई. घर आने के बाद मुझे डॉक्टर का फोन आया और उन्होंने मुझे 'प्लाज्मा थेरेपी' के बारे में समझाया. डॉक्टर ने मुझे बताया कि इस थेरेपी में बिल्कुल दर्द नहीं होता. मुझे डॉक्टर की यह बात सुनकर काफी पॉजिटिव फील हुआ और उसके बाद ही मैंने सोचा मुझे भी अपना प्लाज्मा डोनेट करके ऐसे मरीजों की मदद करनी चाहिए, जिनकी इस बीमारी से जान चली जाती है.


प्लाज्मा थेरेपी में कोरोनावायरस संक्रमण से ठीक हो चुके व्यक्ति के खून से प्लाज्मा निकालकर कोरोनावायरस के मरीज को चढ़ाया जाता है. दरअसल बात यह है कि इस बीमारी से ठीक हो चुके व्यक्ति में इस वायरस के खिलाफ लड़ने की क्षमता पहले से ज्यादा बढ़ जाती है और 3 हफ्ते बाद उसे ठीक हो गए व्यक्ति के शऱीर के प्लाजमा दिया जाता है तब बीमारी व्यक्ति के अंदर इस बीमारी से लड़ने की क्षमता पहले के मुकाबले बढ़ जाती है और वह फिर जल्दी ठीक हो जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) तेजी से पैर फैला रहा है. देश में Covid-19 से मरने वालों का आंकड़ा 824 पर पहुंच गया. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की ओर से रविवार को जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोरोनावायरस से अब तक 824 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि संक्रमित मामलों की संख्या बढ़कर 26,496 हो गई है. वहीं, पिछले 24 घंटों में कोरोना के 1990 नए मामले सामने आए हैं और 49 लोगों की मौत हुई है. 24 घन्टे में अब तक सबसे ज्यादा नए मामले आए. हालांकि, थोड़ी राहत वाली बात यह है कि इस बीमारी से अब तक 5,804 मरीज ठीक को चुके हैं. बीते 24 घंटे में 741 लोग ठीक हुए हैं. बता दें कि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया. यह लॉकडाउन 3 मई तक जारी रहेगा.