NDTV Khabar

Video: पापा! मुझे कैंसर है, प्लीज मेरा इलाज करा दो...नहीं पसीजा पिता का दिल तो बच्ची ने तोड़ा दम

वीडियो में बच्ची रोते हुए अपने पिता से कह रही है वे उसका इलाज कराएं, वह मरना नहीं चाहती है. इसके बाद भी पिता कलेजा नहीं पसीजा और इलाके के अभाव में बच्ची ने दम तोड़ दिया. उसने बेहद मार्मिक तरीके से अपनी बात बाप पिता तक पहुंचाने तक कोशिश की है. इस बच्‍ची का नाम साई श्री था.

632 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
Video: पापा! मुझे कैंसर है, प्लीज मेरा इलाज करा दो...नहीं पसीजा पिता का दिल तो बच्ची ने तोड़ा दम

पिता ने कराया कैंसर पीड़ित बेटी का इलाज तो हुई उसकी मौत. तस्वीर: प्रतीकात्मक

खास बातें

  1. 13 वर्षीय साई श्री को था कैंसर, इलाज के अभाव में गई जान
  2. लड़की ने सेल्फी जारी कर पिता से इलाज कराने की की थी अपील
  3. पिता ने नहीं कराया इलाज, बच्ची ने दम तोड़ दिया
नई दिल्ली: पिछले दिनों सेल्फी वीडियो के जरिए अपने पिता से इलाज पर पैसे खर्च करने की गुहार लगाने वाली कैंसर पीड़िता की मौत हो गई है. आरोप है कि पिता ने बेटी का इलाज नहीं कराया, इसी वजह से उसकी मौत हो गई. विजयवाड़ा की इस लड़की मौत के बाद उसका सेल्फी वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में बच्ची रोते हुए अपने पिता से कह रही है वे उसका इलाज कराएं, वह मरना नहीं चाहती है. इसके बाद भी पिता कलेजा नहीं पसीजा और इलाके के अभाव में बच्ची ने दम तोड़ दिया. उसने बेहद मार्मिक तरीके से अपनी बात बाप पिता तक पहुंचाने तक कोशिश की है. इस बच्‍ची का नाम निरुपमा (बदला हुआ नाम) था.

वीडियो में निरुपमा कह रही है, 'पापा, आपने कहा कि आपके पास पैसे नहीं हैं. पर हमारे पास यह घर तो है. कृपया इस घर को बेच दीजिए और मेरे इलाज के पैसे दे दीजिए. डॉक्‍टर का कहना है कि अगर इलाज नहीं हुआ, तो मैं ज्‍यादा समय तक जिंदा नहीं रह पाऊंगी. प्‍लीज कुछ कीजिए और मुझे बचा लीजिए. मैं स्‍कूल जाना चाहती हूं.'

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक निरुपमा के मां-पिता के बीच अच्छे रिश्ते नहीं हैं. कुछ साल पहले पिता ने निरुपमा और उसकी मां को घर से बाहर कर दिया था. निरुपमा की मां जैसे-तैसे उसका और खुद के खाने का इंतजाम कर रही थी. इसी बीच निरुपमा को कैंसर होने की बात पता चलने पर मां बेहद घबरा गई. डॉक्टरों ने ईलाज पर काफी पैसे खर्च होने की बात कही. आखिरकार निरुपमा ने मोबाइल से सेल्फी वीडियो बनाकर अपने पिता से इलाज के लिए पैसे जुटाने की गुजारिश की थी, लेकिन पिता का कलेजा नहीं पसीजा. 


रविवार को बच्‍ची की मौत हो गई. जब यह वीडियो एक एनजीओ ने देखा, तो वो इसकी शिकायत लेकर राज्य मानवाधिकार आयोग चली गई. एनजीओ ने आरोप लगाया कि पिता ने पैसे होने के बावजूद बेटी का इलाज नहीं किया. बताया जा रहा है कि इसके बाद पिता ने कथित तौर पर तेलुगु देशम पार्टी (टीएसपी) के विधायक बोंडा उमामाशेवारा राव की मदद से गुंडों को इस मुद्दे के निपटारे के लिए भेजा. एनजीओ का कहना है कि पुलिस ने गुंडो के खिलाफ केस दर्ज करने से भी मना कर दिया है.

आंध्र प्रदेश मानवाधिकार आयोग ने शहर के पुलिस आयुक्त को इस घटना पर एक विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करने का आदेश दिया है. हालांकि सोशल मीडिया पर बच्ची की मौत पर लोग पिता को कोस रहे हैं.

नोट: एनडीटीवी इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement