6 पालतू जानवरों को अपने मालिक से मिलवाने के लिए 9 लाख में बुक किया गया एक 'प्राइवेट जेट'

कोरोनावायरस (Coronavirus) लॉकडाउन (Lockdown) में इंसानों के साथ-साथ जानवरों को भी उनके मालिक के पास पहुंचाने के लिए खास इंतजाम किये जा रहे हैं.

6 पालतू जानवरों को अपने मालिक से मिलवाने के लिए 9 लाख में बुक किया गया एक 'प्राइवेट जेट'

6 पालतू जानवरों को अपने मालिक से मिलवाने के लिए 9 लाख रूपए किये गए खर्च

कोरोनावायरस (Coronavirus) लॉकडाउन (Lockdown) में इंसानों के साथ-साथ जानवरों को भी उनके मालिक के पास पहुंचाने के लिए खास इंतजाम किये जा रहे हैं. मुंबई मिरर साइबर सिक्योरिटी दीपिका सिंह (Deepika Singh) ने कहा कि लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान ट्रेवल करते वक्त कई पालतू जानवर ऐसे हैं जिनके मालिक उन्हें अपने साथ नहीं ले जा पाए. ऐसे जानवरों की सहायता के लिए हमने खास इंतजाम किया है. इस पूरे मामले पर उनसे बात कि गई कि आखिर क्या इंतजाम किया गया है तो उन्होंने 'द प्रींट' से खास बातचीत में बताया कि हमने एक प्राइवेट जेट का इंतजाम किया है. जो इन पालतू जानवरों को बैठाकर मुंबई ले जाएगा. 

दीपिका ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान ट्रेवल करने वाले यात्री अपने पालतू जानवरों को अपने साथ लेकर जाना चाहते थे लेकिन साथ वाले पैसेंजर को यह बात पसंद नहीं आई और उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया और जिसकी वजह से हमने अलग से एक प्राइवेट जेट का इंतजाम किया है, ताकि इन पालतू जानवरों को सुरक्षित अपने मालिक से मिलवाया जा सके. सिर्फ इतना ही नहीं अगर इस प्राइवेट जेट से यह जानवर नहीं जा पाए तो हमने इन जानवरों के लिए एक और उपाय सोचा है कि, हम इन्हें कार्गो के जरिए भेज देंगे.

दीपिका 6 पालतू जानवरों को भेजने के लिए लगातार एक्रीशन एविएशन के संपर्क में थी. और 6 सीट वाला एक प्राइवेट जेट बुक किया है. पूरे जेट को बुक करने में 9.6 लाख का खर्चा पड़ा है. जबकि प्रत्येक सीट की कीमत 1.6 लाख रुपये है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दिव्या भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक दीपिका सिंह ने एक प्राइवेट कंपनी से संपर्क किया और फिर प्राइवेट जेट में पालतू जानवरों को भेजने के लिए खास इंतजाम किया गया है. अबतक जेट से भेजने के लिए कुत्ते की खास नस्ल Shih Tzu को दो जोड़े, Golden Retriever, Lady Pheasant bird को ले जाने के लिए साइन कर लिये गए हैं. 

Accretion Aviation के मालिक राहुल मुच्छल के मुताबिक कोरोनावायरस महामारी को ध्यान में रखते हुए, पालतू जानवरों के बोर्डिंग से पहले उनका तापमान चेक किया जाएगा और फिर उड़ान भरने के दौरान उन्हें पिंजरे में रखा जाएगा. और फिर जैसे ही पहुंच जाएंगे तो एक बार फिर से उनका तापमान चेक किया जाएगा.