प्रियंका गांधी के बेटे ने क्लिक की छिपे हुए मोर की खूबसूरत फोटो, ट्विटर पर आए ऐसे रिएक्शन

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ((Priyanka Gandhi) ने #WorldEnvironmentDay के मौके पर अपने बेटे रायन राजीव वाड्रा (Raihan Rajiv Vadra) द्वारा क्लिक की गई एक मोर (Peacock) की फोटो शेयर की जोकि सोशल मीडिया (Social Media) पर काफी वायरल हो रही है.

प्रियंका गांधी के बेटे ने क्लिक की छिपे हुए मोर की खूबसूरत फोटो, ट्विटर पर आए ऐसे रिएक्शन

प्रियंका गांधी के बेटे ने क्लिक की मोर की खूबसूरत सी फोटो

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ((Priyanka Gandhi) ने #WorldEnvironmentDay के मौके पर अपने बेटे रायन राजीव वाड्रा (Raihan Rajiv Vadra) द्वारा क्लिक की गई एक मोर (Peacock) की फोटो शेयर की जोकि सोशल मीडिया (Social Media) पर काफी वायरल हो रही है. प्रियंका गांधी ने इस फोटो को अपने ट्विटर (Twitter) हैंडल के साथ़-साथ इंस्टाग्राम (Instagram) पर भी शेयर किया है. इस फोटो में चारों तरफ हरियाली है और पूरी हरियाली के बीच एक मोर नजर आ रहा है. इस फोटो को सोशल मीडिया पर काफी पसंद किया जा रहा है. 

प्रियंका गांधी ने अपनी दादी और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की एक कोट्स शेयर करते हुए लिखा, एक सभ्य इंसान वहीं होता है जो अपने आस-पास के हर छोटी चीजों को बराबरी से जीने का हक दे. 

Newsbeep

आपको बता दें कि इस पोस्ट पर अबतक हजार से ज्यादा लाइक्स और एक हजार से अधिक रिट्वीट आ चुके हैं. लोग इस फोटो को काफी पसंद भी कर रहे हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस पोस्ट को ट्विटर पर काफी पसंद किया जा रहा है. हर साल 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day 2020)  मनाया जाता है. विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) को मनाए जाने का उद्देश्य पर्यावरण के प्रति लोगों में जागरुकता फैलाना है. पहली बार संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा सन 1972 में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया था. विश्व पर्यावरण दिवस या वर्ल्ड एनवायरनमेंट डे को आप प्राकृति मां के प्रति अपनी कृतज्ञता प्रकट करने का दिन कह सकते हैं. 
आपको बता दें कि दुनियाभर के कई देशों में लोगों की संख्या काफी अधिक हो गई है और साथ प्रदूषण में भी काफी इजाफा हुआ है. भूमि, जल, वायु प्रदूषण के स्तर में वृद्धि हुई है और इसी वजह से विश्व पर्यावरण दिवस की शुरुआत की गई ताकि लोगों को इसके प्रति जागरूक किया जा सके