आनंद महिंद्रा ने ढूंढ निकाला 'जूतों के डॉक्टर' को, ऐसे करेंगे मदद

आनंद महिंद्रा को जूतों का डॉक्टर मिल चुका है. उनकी टीम ने मोची का पता लगा लिया है. जूतों के डॉक्टर का नाम है नरसीराम.

आनंद महिंद्रा ने ढूंढ निकाला 'जूतों के डॉक्टर' को, ऐसे करेंगे मदद

आनंद महिंद्रा ने ढूंढ निकाला जूतों के डॉक्टर को.

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट काफी वायरल हुई थी वो थी 'जूतो के डॉक्टर' की. आनंद महिंद्रा ने जो फोटो शेयर की थी उसमें एक मोची ने सड़क पर लगी अपनी दुकान पर एक बैनर लगाया हुआ था, 'जख्मी जूतों का हस्पताल' और बैनर पर लंच टाइम से लेकर सारी जानकारी अस्पताल के तरह से लिखी हुईं थीं. उन्होंने जूतों के डॉक्टर के साथ बिजनेस करने की इच्छा जताई थी और इन्वेस्ट करने का सोचा. इसके लिए उन्होंने लोगों से ढूंढ निकालने की गुजारिश की थी. आखिरकार अब उन्हें जूतों का डॉक्टर मिल चुका है. उनकी टीम ने मोची का पता लगा लिया है. जूतों के डॉक्टर का नाम है नरसीराम जो हरियाणा में अपनी दुकान लगाता है. 

सूरत में बच्ची से रेप से आहत आनंद महिंद्रा बोले, रेपिस्टों को फांसी देने के लिए मैं जल्लाद बनने को तैयार
 


आनंद महिंद्रा ने ट्वीट करते हुए कहा- ''हरियाणा में हमारी टीम उनसे मिली और पूछा कि हम कैसे उनकी मदद कर सकते हैं. साधारण और नम्र नरसीजी ने पैसे नहीं मांगे उन्होंने काम करने के लिए बेहतर जगह की जरूरत के बारे में बताया. मैंने अपनी डिजाइन टीम को चलती-फिरती दुकान डिजाइन करने को कहा है.''

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के रात्रीभोज के खाने की उधोगपति आनंद महिंद्रा ने की तारीफ 
 


बता दें, हरियाणा के जींद में नरसीराम अपनी दुकान लगाते हैं. दुकान में सबसे खास है उनका वो बैनर जिस पर जूतों का डॉक्टर लिखा है. साथ ही बैनर में अस्पताल के तर्ज पर लिखा है- ओपीडी सुबह 9 से दोपहर 1 बजे, लंच दोपहर 1 से 2 बजे और शाम 2 से 6 बजे तक अस्तपाल खुला रहेगा. हमारे यहां सभी प्रकार के जूते जर्मन तकनीक से ठीक किए जाते हैं.' उनकी दुकान को देखकर आनंद महिंद्रा भी हैरान रह गए थे और उनको ये यूनीक आइडिया लगा. जिसके बाद उन्होंने ट्वीट किया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com