अब पता चलेगा प्रोडक्ट का सही रिव्यू, फर्जी ऑनलाइन रिव्यू की पहचान कर सकेगा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

वैज्ञानिकों ने ऐसी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) प्रणाली विकसित की है जो ऑनलाइन ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर मशीन से तैयार किए गये फर्जी रिव्यू की पहचान कर सकता है.

अब पता चलेगा प्रोडक्ट का सही रिव्यू, फर्जी ऑनलाइन रिव्यू की पहचान कर सकेगा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

Washington: वैज्ञानिकों ने ऐसी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) प्रणाली विकसित की है जो ऑनलाइन ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर मशीन से तैयार किए गये फर्जी रिव्यू की पहचान कर सकता है. अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि ट्रिप एडवाइजर, येल्प और आमेजन जैसी कंपनियां ग्राहकों के लिए अपने प्रोडक्टस और सेवाओं के रिव्यू पेश करती हैं. इन वेबसाइटों से खरीददारी करने वाले 10 में से नौ लोग इन रिव्यू को पढ़ते हैं और उन्हें सही मानते हैं.

ब्रह्मांड में नई दुनिया का पता लगाने के लिए अब इस्तेमाल कीजिए गूगल का आर्टिफिशयल इंटेलीजेंस

हालांकि, पेंच यह है कि इसमें सभी रिव्यू सही नहीं होते. लोगों द्वारा वेबसाइटों पर फर्जी रिव्यू लिखा जाना आजकल बहुत आम बात हो गयी है. लेकिन आजकल मशीनों से तैयार किए जाने वाले फर्जी रिव्यू की संख्या बहुत बढ़ गयी है. 

NASA की बड़ी कामयाबी, गूगल एआई की मदद से खोज निकाला 8 ग्रहों वाला सौर मंडल

Newsbeep

अमेरिका के आल्टो यूनिवर्सिटी की शोधार्थी मिका जुटी के अनुसार, फर्जी रिव्यू एल्गोरिदम पर आधारित होते हैं और आजकल इन्हें बनाना और पोस्ट करना बेहद आसान हो गया है. लोगों को अकसर वास्तविक और फर्जी रिव्यू में अंतर समझ नहीं आता है. कंपनियां इस तरह के फर्जी रिव्यू का प्रयोग करके अपनी बिक्री बढ़ाने की कोशिश करती हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(इनपुट-भाषा)