ट्रेन में दो दिन से भूखी थी बच्ची, पुलिसवाले ने ट्रेन के पीछे दौड़कर पिलाया दूध, रेल मंत्री बोले- 'उसैन बोल्ट को पछाड़ा...' - देखें Video

भोपाल (Bhopal) में चलती ट्रेन के एक कोच में एक बच्चे को दूध पिलाने और देश भर में दिल जीतने वाले (Policeman Deliver Milk To Infant) रेलवे पुलिसकर्मी भारतीय रेलवे के पोस्टर ब्वॉय बन गए हैं. रेल मंत्री पियूष गोयल (Piyush Goyal) ने जमकर तारीफ की है.

ट्रेन में दो दिन से भूखी थी बच्ची, पुलिसवाले ने ट्रेन के पीछे दौड़कर पिलाया दूध, रेल मंत्री बोले- 'उसैन बोल्ट को पछाड़ा...' - देखें Video

ट्रेन में दो दिन से भूखी थी बच्ची, पुलिसवाले ने ट्रेन के पीछे दौड़कर पिलाया दूध... देखें Video

भोपाल (Bhopal) में चलती ट्रेन के एक कोच में एक बच्चे को दूध पिलाने और देश भर में दिल जीतने वाले (Policeman Deliver Milk To Infant) रेलवे पुलिसकर्मी भारतीय रेलवे के पोस्टर ब्वॉय बन गए हैं. मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने भारतीय रेलवे द्वारा प्रदान की गई सेवाओं पर एक वीडियो ट्वीट करते हुए रेलवे पुलिस बल (आरपीएफ) के सिपाही इंदर यादव की तुलना उसैन बोल्ट से की. 

बता दें, भोपाल रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ जवान इंदर यादव ने कर्नाटक से गोरखपुर जा रही, श्रमिक स्पेशल ट्रेन में सफर कर रही साफिया हाशमी की मदद करके एक मिसाल पेश की. साफिया की तीन महीने की बच्ची भूखी थी और उसे दो दिन से दूध नहीं मिला था.

भोपाल स्टेशन पर साफिया ने इंदर से मदद मांगी. इंदर जब तक बाहर जाकर दूध लाए, ट्रेन प्लेटफॉर्म से चल दी. इंदर एक हाथ में राइफल संभाले और दूसरे हाथ में दूध का पैकेट लिए दौड़ पड़े. उन्होंने साफिया तक दूध पहुंचाया. ये पूरा वाक्या प्लेटफॉर्म पर लगे सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गया. 

पियूष गोयल ने वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, 'एक हाथ में राइफल और एक हाथ में दूध : देखिये किस तरह भारतीय रेलवे ने उसैन बोल्ट को पछाड़ा.'

देखें Video:

Newsbeep

इस क्लिप को सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से साझा किया गया, जहां नेटिज़ेंस ने यादव की निस्वार्थ सेवा के लिए सराहना की. रेल मंत्री ने बाद में पुलिसकर्मी को नकद इनाम देने की घोषणा की. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कई रिपोर्ट्स सामने आई हैं, जहां बताया गया है कि श्रमिकों के लिए स्पेशल ट्रेन 8 से 10 घंटे देरी से चल रही है. ऐसे में यात्रियों को पानी और खाने की समस्या हो रही है. लंबी यात्रा में कोई परेशानी न आए इसके लिए पुलिसकर्मी मदद के लिए आगे आए हैं.