शर्मनाक! बच्चों को धर्म और जाति के आधार पर पढ़ाता है बिहार का ये स्कूल

इस मामले पर बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णा नंदन वर्मा (Bihar Education Minister Krishna Nandan Verma) का कहना है कि जांच के आदेश दे दिए गए हैं, जल्द की इस मामले के बारे में सच का पता लगा लिया जाएगा.

शर्मनाक! बच्चों को धर्म और जाति के आधार पर पढ़ाता है बिहार का ये स्कूल

बिहार के इस स्कूल में होती है धर्म और जाति के आधार पर पढ़ाई

नई दिल्ली:

बिहार (Bihar) के एक सरकारी स्कूल (Government School) में बच्चों को रोल नंबर या कद के हिसाब से नहीं बल्कि जाति (Caste) के हिसाब से बिठाया जाता है. जी हां, ये स्कूल बिहार के लालगंज के जिला वैशाली में मौजूद है. जहां बच्चों के क्लास के सेक्शन भी उनके धर्म और जाति के हिसाब से बांटे गए हैं. मामला बिहार के GA Plus 2 स्कूल का है.

इंडियन रेलवे ने दिया महिला यात्रियों को नए साल का तोहफा, अब ट्रेन में मिलेंगे ब्यूटी प्रोडक्ट्स और घर के समान

इस मामले पर बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णा नंदन वर्मा (Bihar Education Minister Krishna Nandan Verma) का कहना है कि जांच के आदेश दे दिए गए हैं, जल्द की इस मामले के बारे में सच का पता लगा लिया जाएगा. साथ ही उन्होंने कहा अगर यह मामला सच है तो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है. किसी भी स्कूल में बच्चों को इस तरह से विभाजित करना गलत है.

रूस के Rich Kids ऐसे जीते हैं अपनी रॉयल लाइफ, रखते हैं ये महंगे शौक

जिला के एजुकेशन ऑफिसर अरविंद तिवारी (Education Officer Arvind Tiwari) का कहना है कि उन्होंने इस शिकायत के बाद स्कूल का जायजा किया है और मामले की रिपोर्ट भी भेज दी है. 

वहीं, रिपोर्ट्स के मुताबिक इस स्कूल में हिंदू और मुस्लिम दोनों बच्चों को अलग-अलग सेक्शन में बिठाया जाता है. साथ ही दलित, OBC और ऊंची जाति के बच्चों को अलग क्लास में बिठाया गया है. 

वेटर के बेटे की थी किडनी खराब, ट्रांसप्लांट के लिए इस कंपनी ने ऐसे जुटाए 21 लाख रुपये

इतना ही नहीं इस स्कूल का हाज़िरी का रजिस्टर भी बच्चों के रोल नं. से नहीं बल्कि उनके धर्म और जाति के हिसाब से बांटा हुआ है. लेकिन स्कूल के इस तरह के खराब प्रबंधन के बावजूद बच्चों में कोई दरार नहीं नज़र आती. इस स्कूल के सभी बच्चे एक साथ खेलते हैं, स्कूल जाते हैं और छुट्टी के वक्त बाहर आते हैं.

VIDEO: दिल्ली के स्कूल में ये कैसी पढ़ाई?

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com