NDTV Khabar

बीजेपी सांसद को बधाई देने के लिए शॉल और फूल लेकर पहुंचे लोग तो बोले- 'मुझे ये नहीं बल्कि...'

तेलंगाना की सिकंदराबाद संसदीय सीट से भाजपा के नवनिवार्चित सांसद जी किशन रेड्डी ने उन्हें बधाई देने आ रहे लोगों से कहा है कि वह उनके लिए शॉल या फूलों का गुच्छा नहीं, बल्कि नोटबुक लाएं जिन्हें गरीब छात्रों को वितरित किया जा सके.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी सांसद को बधाई देने के लिए शॉल और फूल लेकर पहुंचे लोग तो बोले- 'मुझे ये नहीं बल्कि...'

धाई देने वालों से भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद ने कहा: शॉल, फूल नहीं, केवल नोटबुक ले कर आएं.

तेलंगाना की सिकंदराबाद संसदीय सीट से भाजपा के नवनिवार्चित सांसद जी किशन रेड्डी ने उन्हें बधाई देने आ रहे लोगों से कहा है कि वह उनके लिए शॉल या फूलों का गुच्छा नहीं, बल्कि नोटबुक लाएं जिन्हें गरीब छात्रों को वितरित किया जा सके. तेलंगाना में भाजपा के पूर्व अध्यक्ष रेड्डी ने सोमवार को एक बयान में कहा कि नोटबुक आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए उपयोगी रहेगी इसलिए उन्हें चुनाव में जीत के लिए बधाई देने आ रहे लोग शॉल या फूलों का गुच्छा देने के बजाय उन्हें नोटबुक ही दें. भाजपा ने लोकसभा चुनाव में तेलंगाना में 17 में से चार सीटें जीती हैं. 

भारत की सुष्मिता सिंह बनीं Miss Teen World, बोलीं- 'लोग कहते थे खूबसूरत नहीं हूं फिर...'

बता दें, भाजपा की सहयोगी पार्टियों जदयू और अन्नाद्रमुक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नई मंत्रिपरिषद में शामिल किए जाने की प्रबल संभावना है. इसके अलावा, पश्चिम बंगाल और तेलंगाना में भाजपा के बेहतर प्रदर्शन के कारण इन दोनों राज्यों के पार्टी नेताओं को भी मंत्रिपरिषद में जगह मिल सकती है. सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी. 


इंस्पेक्टर से बन गया सांसद, दिखा EX-बॉस तो झट से मारा सैल्यूट, देखते रह गए लोग

हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में तेलंगाना में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस को मिली महत्वपूर्ण बढ़त से राज्य में दोनों दलों में नयी जान आ गयी है. पिछले साल प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव में दोनों दलों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा था. सत्तारुढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) ने पिछले साल दिसंबर में हुए विधानसभा चुनाव में 119 सीटों में से 88 पर जीत दर्ज की थी.

गौतम गंभीर जीते तो भड़क गए पूर्व पाक खिलाड़ी शाहिद अफरीदी, बोले- 'अक्ल नहीं फिर भी जीत गया...' देखें VIDEO

टिप्पणियां

इस साल लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद कई एक्जिट पोल में यह अनुमान लगाया गया था कि टीआरएस आम चुनाव में भी अच्छा प्रदर्शन करते हुए 13-16 सीटें जीत सकती है. हालांकि चंद्रशेखर राव की पार्टी ने राज्य की 17 में 16 लोकसभा सीटों पर जीत का लक्ष्य रखा था. लेकिन पार्टी केवल नौ सीट ही अपने कब्जे में कर पाई. भाजपा ने चार जबकि कांग्रेस ने तीन सीटों पर जीत दर्ज की. 

(इनपुट-भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement