NDTV Khabar

लड़के ने पुलिस के सामने की अंग्रेजी में बात तो तीन दिन तक बेरहमी से पीटा, जानें फिर क्या हुआ

पुलिस ने 12वीं के छात्र को लॉकअप में बंद किया और तीन दिन तक खूब पीटा. उसकी गलती इतनी थी कि उसने पुलिस से अंग्रेजी में बात कर ली थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लड़के ने पुलिस के सामने की अंग्रेजी में बात तो तीन दिन तक बेरहमी से पीटा, जानें फिर क्या हुआ

अंग्रेजी में सवाल पूछने पर बिहार पुलिस ने की पिटाई.

खास बातें

  1. अंग्रेजी में सवाल पूछने पर बिहार पुलिस ने की पिटाई.
  2. पुलिसवालों से अंग्रेजी में पूछा- गिरफ्तारी के पीछे का कारण क्या है?
  3. अभिषेक को पकड़ा और लॉकअप में बंद कर खूब पीटा.
नई दिल्ली: बिहार से कई ऐसी खबरें आती हैं जिनकी वजह से वो काफी चर्चा में रहता है. इस बार कुछ ऐसा हुआ जिसके बाद बिहार पुलिस चर्चा में आ गई है. पुलिस ने 12वीं के छात्र को लॉकअप में बंद किया और तीन दिन तक खूब पीटा. उसकी गलती इतनी थी कि उसने पुलिस से अंग्रेजी में बात कर ली थी. ये घटना बिहार के खगड़िया जिले की है. जिले में गाड़ी चोरी की वारदातें बढ़ती जा रही हैं.

रामनवमी हिंसा: आरोपी पुलिस हिरासत से फरार, आत्मसमर्पण नहीं किया तो संपत्ति होगी कुर्क

जिसके लिए पुलिस सख्त हो चुकी है और जांच तेज कर चुकी है. Deccan Chronicle की खबर के मुताबिक, पुलिस ने एक शख्स को हिरासत में लिया और स्टेशन में पूछताछ कर रही थी. उसी वक्त शक्स का भांजा अभिषेक थाने में पहुंच गया. अभिषेक ने पुलिसवालों से अंग्रेजी में सवाल किया- What is the reason behind his detention? (गिरफ्तारी के पीछे का कारण क्या है?) जिसके बाद पुलिस ने अभिषेक को पकड़ा और लॉकअप में बंद कर खूब पीटा. 

टिप्पणियां
लापरवाही बरतने के आरोप में थाना अध्यक्ष सहित पांच पुलिसकर्मी निलंबित

खबर सुनते ही अभिषेक के घरवाले थाने पहुंच गए. जिसके बाद थानेदार ने पीआर बॉन्ड भरा कर छोड़ दिया. जिसके बाद अभिषेक के घरवालों ने उसे अस्पताल में भर्ती कर दिया. जिसके बाद उसने एसपी मीनू कुमारी से शिकायत की. जिसके बाद जांच में पता चला कि एसएचओ मुकेश कुमार और एएसआई श्याम सुंदर सिंह दोषी हैं. जिसके बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement