NDTV Khabar

दोस्तो से संग शराब के नशे में जयमाला स्टेज पर पहुंचा था दूल्हा, दुल्हन ने लौटाई बारात

रोहनिया के बसंत पट्टी में सोमवार को दुल्हन बबिता चौहान जयमाला के लिए स्टेज पर पहुंची तो दूल्हे की हालत देखकर गुस्से से तमतमा गई. दरअसल, दूल्हा और स्टेज पर मौजूद उसके दोस्त शराब के नशे में थे और दुल्हन के स्टेज पर पहुंचते ही वे हंगामा करने लगे. यह बात बबिता को इतनी बुरी लगी कि उसने शादी करने से साफ मना कर दिया.

143 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
दोस्तो से संग शराब के नशे में जयमाला स्टेज पर पहुंचा था दूल्हा, दुल्हन ने लौटाई बारात

अपनी मां के साथ चारपाई पर उदास बैठी दुल्हन बबिता.

खास बातें

  1. वाराणसी में दुल्हन ने पेश की मिसाल
  2. शादी में शराब पीकर पहुंचा था दूल्हा
  3. दुल्हन ने शादी करने से किया मना
वाराणसी: आपने दहेज के लिए लड़की के घर से बारात लौटने की खबर कई बार सुनी और देखी होगी, लेकिन ऐसा कम ही सुना होगा कि लड़की ने जयमाला स्टेज पर जाने के बाद भी बारात वापस कर दी. ऐसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हुआ. रोहनिया के बसंत पट्टी में सोमवार को दुल्हन बबिता चौहान जयमाला के लिए स्टेज पर पहुंची तो दूल्हे की हालत देखकर गुस्से से तमतमा गई. दरअसल, दूल्हा और स्टेज पर मौजूद उसके दोस्त शराब के नशे में थे और दुल्हन के स्टेज पर पहुंचते ही वे हंगामा करने लगे. यह बात बबिता को इतनी बुरी लगी कि उसने शादी करने से साफ मना कर दिया.

बबिता की 21 तारीख को शादी थी. अपने होने वाले दूल्हे के लिये उसने बड़े अरमान से अपने हांथों में मेहंदी रचाई थी. मेहंदी के इन खूबसूरत डिजाइन में वह अपने सुनहरे दिनों के सपने भी देख रही थी.  21 तारीख को वह दिन आ भी गया. घर पर बारात आई धूमधाम से स्वागत हुवा. जयमाला के स्टेज पर बबिता पहुंची भी, लेकिन वहां जो कुछ हुवा उससे शादी के सारे अरमान चूर चूर हो गये.
bride
बबिता की शादी का कार्ड.

दुल्हन बबिता के भाई ने बताया, 'जयमाला के समय लड़के के दोस्त स्टेज पर छेड़खानी करने लगे. दूल्हा भी दोस्तों का साथ दे रहा था. किसी को कोई रोक नहीं रहा था खूब बोल रहे थे. दूल्हे के मुंह से शराब की बदबू आ रही थी. इसलिए बबिता ने शादी से मना कर दिया.'

बारात में आए दूल्हा के दोस्तों ने खाने की प्लेट, कुर्सियां फेंकना शुरू कर दिया. बस, बबिता ने उसी पल बारात लौटाने की ठान ली और शादी से इनकार कर दिया. बारातियों को रोकने पहुंचे ग्रामीणों के साथ भी झड़प हो गई. मामला थाने पर पहुंचा. दोनों पक्षों को थाने बुलाकर पुलिस ने समझाने की कोशिश की, लेकिन शादी की बात नहीं बनी.
bride
बबिता के हाथों में लगी मेंहदी.

सात महीने पहले मिर्जापुर के दोहसपुरा गांव के संतु चौहान के बेटे से बबिता की शादी तय हुई थी. भले ही फौरी तौर पर बबिता के सारे अरमान  शराब और दहेज की भेंट चढ़ गई. लेकिन शराबी दूल्हे से शादी न करने का उसका फैसला कई लड़कियों के अंदर हौसला दे जायेगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement