NDTV Khabar

चलती हुई वाशिंग मशीन में आधे घंटे तक फंसी रही बिल्ली, अस्पताल में लड़ रही जिंदगी-मौत की जंग, दुनिया भर से पहुंच रही मदद

फेलिक्स के लिए गो फंड मी पेज पर अब तक 9800 डॉलर तक की मदद मिल चुकी है. हालांकि लक्ष्य 10 हजार डॉलर का है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चलती हुई वाशिंग मशीन में आधे घंटे तक फंसी रही बिल्ली, अस्पताल में लड़ रही जिंदगी-मौत की जंग, दुनिया भर से पहुंच रही मदद

फेलिक्स की आंखों की रोशनी जा चुकी है और उसे निमोनिया हो गया है.

खास बातें

  1. 35 मिनट बाद जब मालकिन आई तो बिल्ली वाशिंग मशीन में बुलाया
  2. दुनिया भर से लोग फेलिक्स के इलाज के लिए पैसे भेज रहे हैं
  3. ऑक्सीजन के सहारे अस्पताल में जूझ रही है बिल्ली

अमेरिका की मिनेसोटा की एक बिल्ली को आज दुनिया भर से डोनेशन मिल रहा है. फेलिक्स नाम की ये बिल्ली अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही है. दरअसल फेलिक्स चलती हुई वाशिंग मशीन में 35 मिनट तक फंसी रही और अब उसकी हालत गंभीर है. फेलिक्स वाशिंग मशीन में जाकर बैठ गई और इसकी मालिक स्टेफनी कैरोल किरचॉफ को इस बात का पता नहीं था. उन्होंने वाशिंग मशीन चालू कर दी और इसे एक्सप्रेस मोड पर लगाकर कहीं निकल गईं. जब आधे घंटे बाद वे लौटी तो उन्होंने फेलिक्स को वाशिंग मशीन के अंदर देखा. किसी तरह उसने अपने आप को बचाए रखा लेकिन उसकी स्थिति काफी खराब थी. इसके बाद स्टेफनी तुरंत उसे मिनेसोटा के एनिमल इमरजेंसी और रेफरल सेंटर में लेकर पहुंची. 

स्टेफनी कहती हैं कि वे पिछले कुछ दिनों से सदमें में हैं और ये वाक्या उन्हें जिंदगी भर परेशान करने वाला है.  फिलहाल फेलिक्स अस्पताल में ऑक्सीजन सपोर्ट पर है और उसकी आंखों की रोशनी जा चुकी है. फेफड़ों में पानी भर जाने की वजह से उसे निमोनिया भी हो गया है. 


1 साल में 20 लाख बिल्लियों को मारेगी ये सरकार, खिलाएगी जहरीले सॉसेज, जानिए क्यों

स्टेफनी की बेटी आशा कैरोल किरचॉफ ने फेलिक्स के मेडिकल का खर्च उठाने के लिए गो फंड मी पेज (Go Fund Me) पर इस घटना को शेयर किया है, जहां दुनिया भर से दिल खोलकर लोग उनकी आर्थिक मदद कर रहे हैं. आशा लिखती हैं, ''जब मेरी मां ने उसे देखा तो वह गीली थी और मुश्किल से सांस ले पा रही थी. उसे कुछ दिखाई नहीं दे रहा था और उसके पूरे शरीर पर कई खरोंचे थीं. ''

उन्होंने लिखा कि उसे फिलहाल अंधेपन का अनुभव हो रहा है, जो शायद कुछ समय के लिए या फिर हमेशा के लिए भी हो सकता है. सिर्फ यह समय ही बताएगा. आशा ने बताया कि इस घटना के बाद उनके परिवार का दिल टूट गया है और डरा हुआ है. 

टिप्पणियां

सपना चौधरी खेल रही थीं बिल्ली से, तभी बातों-बातों में कह बैठीं दिल की बात और फिर...

फेलिक्स के लिए गो फंड मी पेज पर अब तक 9800 डॉलर तक की मदद मिल चुकी है. हालांकि लक्ष्य 10 हजार डॉलर का है.  वहीं स्टेफनी ने सीएनएन को बताया कि इस घटना ने उनको जानवरों की भलाई के लिए काम करने की वजह दी है. उन्होंने कहा कि वे इस तरह अपना पश्चाताप करेंगी. 
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement